Operating System क्या है ? जाने विस्तार से हिंदी में |

- Advertisement -

अगर आप mobile, या computer के बारे में कुछ भी जानते है तो कही न कही आपने operating system(window, Android, MAC etc ) का नाम जरुर सुना होगा और यह भी लगता होगा की operating system किसी electronic device( mobile, computer etc ) के लिय कितना important होता है|

पर आखिर OS होता क्या है और यह इतना जरूरी क्यों है अगर आपको यह नही पता है तो आज के इस article हम ये जानेगे की आखिर operating system का काम क्या है और यह हमारे computer के लिए इतना important क्यों है |

Operating system क्या है?(What is operating system?)

“Operating system is a heart of computer.”

अतः OS, computer का दिल कहा जाता है जैसे किसी कार को चलाने के लिए हमें engine की, इंसान को जीवित रहने के लिए दिल की आवश्यकता होती है उसी प्रकार computer को सुचारू रूप से चलाने के लिए operating system की जरूरत होती है |

Operating system के बिना computer एक निर्जीव वस्तु है operating system एक system software होता है और system software का काम computer से जुड़े सभी hardware (monitor, keyboard, mouse, sound etc) तथा computer में उपस्तिथ सभी software program में संतुलन बनाये रखना |

Operating system user और hardware के बीच में interface स्थापित करता है ऑपरेटिंग system user के द्वारा किये हुए काम या instruction को synchronise करता है| अगर कम शब्दों में कहा जाए तो operating system “एक system software या program जो user और कंप्यूटर system के बीच मध्यस्थ का काम करता है और user के द्वारा दिए हुए instruction को कंप्यूटर पर perform करता है|” 

कुछ operating system open source(Linux) होते है और कुछ paid OS(window) होते है|

Open source OS को आप अपने according modify करके use कर सकते है|

अब आप सोच रहे होंगे की आखिर ऑपरेटिंग सिस्टम काम कैसे करता है तो चलिए आगे देखते है की आखिर ऑपरेटिंग सिस्टम काम कैसे करता है 

Operating system काम कैसे करता है? और इसके कितने काम है?(Work of operating system)

- Advertisement -

Operating system kya hai

जैसे की हमे यह पता चल ही गया है की ऑपरेटिंग system होता क्या है  तो अब हम देखेंगे की आखिर यह कंप्यूटर में कैसे काम करता है चुकी OS एक mediocre का काम करता है user और computer के बीच, operating system user से input(keyboard,mouse etc) प्राप्त करके उस input को memory में address allot करता है जहा से ये process CPU के ALU में जाता है और वहा इस process को perform किया जाता है process complete हो जाने के बाद output को OS की help से memory में कोई address allot किया जाता है और यहाँ से output OS computer screen या output device  पर show करता है |

यह आप अच्छे से निचे दिये गये फ्लोव्चार्ट से समझ सकते है की कैसे computer input को os की help से आपके पास output देता है|

पर इसका मतलब ये नही की ऑपरेटिंग system का काम बस user और computer के बीच में synchronize बने रखना है इसके और भी काम होते है, जो computer को operate करने में user की help करते है चलिए इनपर एक नरज डालते है 

  1. Memory Management
  2. Processor Management
  3. Device Management
  4. File Management
  5. Security
  6. Synchronize between user and computer etc

Memory Management-

memory management का मतलब computer में उपस्तिथ memory को manage करना जैसे की हमे पता है की computer में 2 type की memory होती है primary memory जिसे हम RAM के नाम से भी जानते है और दूसरी secondary memory यह memory external और internal दोनों हो सकती है |

OS का काम computer की memory को user के द्वारा दिय हुए instruction के आधार पर manage करता है Primary Memory बहुत parts में divide होती है और एन parts को कब और किस instruction पर CPU को allow करना है ये काम OS का होता है चलिए एक example से समझते है मन लीजिये आपने कोई input (2+3) keyboard के द्वारा calculator पर  करते है उसी ही वक्त OS primary memory का एक address इस input को allot कर देगा और तभी आपने calculator को side में करके video चलाना start कर दिया आपके instruction पाते ही OS memory में आपके इस instruction का भी एक address तुरंत ही allot कर देगा यह allocation इतनी तेजी से होती है की आपको पता नही चलता है और आपको अपने काम में रुकावट नही मिलती है अतः हम कह सकते है की OS का एक बहुत बड़ा काम memory को manage भी करना है|

Process management 

जब हम computer पर काम करते है तो यह decide नही होता है की हम कोई एक ही काम करेंगे हम एक time में बहुत से काम करते है तो उन process को manage करने का काम भी OS का होता है |

ऑपरेटिंग system आपके प्रोग्राम पर नजर रखता है की process खली है या process हो रही है process को CPU को allot करने का काम भी ऑपरेटिंग system का ही होता है |

मान लिजिये आपने कोई input दिया और आपको output मिला जिससे एक process खत्म हो गयी इसका मतलब जितना प्रोसेसर इस process की allot किया गया था अब वो खाली है अतः इस खाली प्रोसेसर को दुबारा काम पर लाना भी operating system का काम होता है|

Device Management

आपके computer में लगे सभी peripheral device(sound, Bluetooth driver, wifi driver etc) का management भी ऑपरेटिंग system के द्वारा ही होता है इसके द्वारा हम computer को input और output प्राप्त करते है |

ऑपरेटिंग system सभी device को track करता है और उनके द्वारा दिए हुए input/output को processor के द्वारा perform करवाता है |

File Management 

एक फाइल बहुत सी directories का combination होता है इसके द्वारा ही हम computer में कोई information आसानी से निकल सकते है ऑपरेटिंग system आपके द्वारा डाले गये सभी इनफार्मेशन को एक special location पर रखता है जिससे आप आसानी से अपनी information दुबारा प्राप्त कर सकते है और resource को deallocate भी करता है |

Security

- Advertisement -

अगर आपने अपने computer में password लगा रखा है तो जब भी आप अपना computer on करते है आपसे आपका computer आपसे password मागता है यह भी OS के द्वारा होता operating system किसी unauthorised access से आपके computer को protect करता है|

Synchronize between user and computerOperating system kya hai

ऑपरेटिंग system को हम लोग इसी काम के वजह से जानते है operating system user के द्वारा दिए हुए input को cpu तक पहुचाता है वहा से output प्राप्त करके user तक पहुचाता है इसको हम एक फ्लोव्चार्ट से अच्छे से समझ सकते है |            

Operating System कितने प्रकार के होते हैं ? (Type of operating system)

जैसे की हमे पता चल ही गया है की operating system के बिना किसी computer का कोई मतलब नही है अतः जब से computer है तब से operating system है operating system का विकाश computer के साथ ही होता आया है क्योकि operating system इतने time से develop हो रहा है तो इसे कई types में बाँट दिया गया है तो चलिए जानते है की operating system के कितने types होते है

  1. Multi user operating system
  2. Single user operating system
  3. Multitasking operating system
  4. Multiprocessing operating system
  5. Multithreading operating system
  6. Real time operating system  

What is full stack developer ? फुल स्टैक डेवलपर क्या है ?

FRONTEND DEVELOPER किसे कहते हैं , कैसे बने-पूरी जानकारी।

BACKEND DEVELOPER किसे कहते हैं कैसे बने ? पूरी जानकारी

Multi user operating system

जैसे की नाम से ही पता लग रहा है की इस operating system के use से हम multiple काम कर सकते है अतः इस operating system में एक से अधिक user एक साथ काम कर सकते है |

इस operating system एक time में बहुत सारे लोग अपना काम कर सकते है |

Single user operating system

- Advertisement -

इस operating system में एक time पर कोई एक ही user काम कर सकता है अतः एक ही user इनपुट/आउटपुट  प्राप्त कर सकता है|

Multitasking operating system

जैसे की सभी के नामो से ही हमे पता चल रहा है की वो कैसे काम करते होंगे उसी प्रकार multitasking operating system किसी इस user के एक से अधिक process एक साथ perform कर सकता है|

इस operating system के द्वारा हम कई सरे काम एक साथ कर सकते है जैसे notepad पर कुछ लिखने के साथ साथ हम song सुन सकते है और बहुत सरे काम एक साथ perform कर सकते है|

Multiprocessing operating system

इस operating system के use से हम एक प्रोग्राम को कई सारे CPU पर perform कर सकते है |इसे operating system का use अधिकतर बड़ी बड़ी search company में होता है जहा किसी एक टॉपिक पर बहुत सरे लोग एक साथ  काम करते है |

Multithreading operating system

इस operating system के use से हम किसी एक program के कई सारे पार्ट्स को अलग अलग perform या चला सकते है |

Real time operating system

यह operating system अपने नाम की तरह है इस operating system में जैसे ही कोई user इनपुट देता है use तुरंत उसका output मिलता है जैसे window, android, mac etc में होता है | 

कुछ operating system के नाम –

  • window OS
  • Android OS
  • MAC OS
  • Linux OS
  • Ubuntu
  • iOS
  • Symbian OS
  • MS-DOS

Operating system की विशेषताए (Features of operating system)

  1. Operating system की यह सुनिश्चित करता है की कोण सी memory कहा और कैसे use में लाई जाएगी |
  2. Operating system आपके computer के processor को मैनेज करता है|
  3. आपके computer device से जुड़े हुए सभी device को मैनेज करता है |
  4. Computer के hardware और software के बीच में mediocre का काम करता है, जिससे user computer में connected सभी device और computer में उपस्तिथ सभी software को चला सकता है|
  5. Operating system कम्पुटर को security देता है|
  6. कुछ operating system open source होते है जिन्हें हम अपनी according modify कर सकते है और उनका use कर सकते है|

आपने क्या सिखा –

इस लेख के माध्यम से हमने आपको बताया कि Operating System क्या है ? ये कितने प्रकार के होते हैं यह कैसे काम करते हैं इनके Features क्या क्या हैं आदि | उम्मीद है यह लेख आपको जरुर पसंद आया होगा अगर आपको किसी भी प्रकार का संदेह है इस लेख को लेकर तो आप हमे जरुर बताये हम आपकी पूरी मदद करेंगे |      

- Advertisement -
Pooja Yadav
पूजा एक बहुत अच्छी लेखक और तकनीकी के अच्छी जानकर हैं , hinditarget.com पर पूजा दैनिकजीवन की समस्यायों और तकनीकी से सम्बन्धित लेख लिखती हैं, इन्होंने Information Technology से Engineering किया है| ये विभिन्न प्रकार की बेहद काम की जानकारीयाँ शेयर करते रहती हैं !

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

हमसे जुड़े

506FansLike
300FollowersFollow
201FollowersFollow

नये लेख

सम्बन्धित लेख