Cryptocurrency क्या है ? cryptocurrency के प्रकार क्या है ?

- Advertisement -

cryptocurrency क्या है, cryptocurrency के प्रकार , cryptocurrency का इतिहास ,cryptocurrency भारत में

दुनिया में हर तरह के लोग रहते हैं , लोगों को अगर जिन है तो वह एक दूसरे पर आश्रित होकर ही जीवित रह सकते हैं । ऐसे में सभी जरूरतों को पूरा करने के लिए वस्तुयों का लेन देन होना तय है । प्राचीन काल में लोगों के पास मुद्रा जैसी कोई भी वस्तु नही थी वह एक दूसरे से वस्तुओं का लेनदेन करके ही अपनी जरूरतों को पूरा करते थे । लेकिन आज के समय में हर एक देश के पास उनकी खुद की मुद्रा है जिसके जरिये वस्तुयों का लेनदेन बहुत ही आसान हो गया है । जैसा कि आधुनिक युग टेक्नोलॉजी का युग तो ऐसे में हमारे पास Cryptocurrency जैसी मुद्रा जिसके द्वारा भी बहुत बड़े बड़े transactions किये जाते हैं । 

लेकिन अब आपके मन में यह सवाल जरूर आ रहा होगा कि आखिर यह Cryptocurrency क्या है ? Cryptocurrency के क्या फायदे हैं? , यह कैसे काम करता है ? इन सभी सवालों के जवाब हम आपको इस लेख में विस्तार से आपको देंगे –

Currency क्या है ? (What is currency in hindi)

Cryptocurrency जानने से पहले आपको यह जान लेना बेहद जरूरी है कि आखिर Currency क्या है ? तो जैसा की आपको पता अगर भारत में आपको किसी भी वस्तु को खरीदना है तो उसके बदले आपको कुछ रुपये देने होते हैं । ऐसे किसी अन्य देश में अगर आप रह रहे हैं तो वहां पर भी आपको उस देश के द्वारा चलाई गई मुद्रा देनी होती है । यह जो हम वस्तु खरीदने के लिए मुद्राएं देते हैं इसी को ही अंग्रेजी में Currency कहते हैं । 

हालांकि यह Currency हर देश में अलग अलग होती है जोकि उस देश की सरकार के द्वारा मान्यता प्राप्त होती है। जैसे कि अमेरिका की Currency को डॉलर कहा जाता है , सऊदी अरब की Currency को रियाल कहा जाता है और भारत की Currency को रुपया । यह मुद्राएं आपको कागज के नोटों और धातु के सिक्कों में उपलब्ध होती हैं जिनकी क़ीमत निर्धारित करने के लिए एक विश्वस्तर का मानक होता है जिसकी सहायता से इन्हें बनाया जाता है और यह मान्य होते हैं । इन मुद्राओं को हम भौतिक रूप से अपने साथ रख सकते हैं ।

Cryptocurrency क्या है ? (What is cryptocurrency in hindi ?)

क्रिप्टोकरेंसी एक प्रकार की Digital Currency का रूप है , जिसे एक पहले से स्थापित केंद्र के द्वारा व्यवस्थित किया जाता है । लेनदेन के समय इसमें क्रिप्टोग्राफ़ी सुरक्षा तकनीकी का उपयोग होता है जिसमें Digital Signature का Verification किया जाता है । जिससे यह पता चल सके कि किया जा रहा लेनदेन वैध है या नही । अन्य शब्दों में कहे तो यह एक Blockchain Technology पर आधारित ऐसी Currency है जिसका उपयोग हम केवल Internet के माध्यम के द्वारा ही Virtual Currency के रूप में कर सकते हैं । 

Cryptocurrency एक decentralized system के द्वारा Maintain की जाती है जिसका मतलब यह हुआ कि यह किसी भी देश के हक में काम नही करती है । इसे Data और Algorithm के द्वारा बनाया गया है जोकि बहुत ही Secure मानी जाती है । यह केवल Online ही प्रयोग में लायी जा सकती है इसका भौतिक रूप में कोई भी अंश नही है। इसे बहुत से देशों ने अवैध घोषित किया है और बहुत से देश इसे अब वैध की श्रृंखला में रखना उचित समझा है । यूं कहें तो आज आप को Cryptocurrency के बारे में जानना बहुत जरूरी है क्योंकि आने वाला भविष्य इसी का होने वाला है ।

Cryptography का इतिहास (Cryptography history in hindi)

इन Virtual Coins की कहानी की शुरुआत America से शुरू हुई । सन 1983 में इनके द्वारा एक Cryptographic System बनाया गया जिसे eCash नाम दिया गया । लगभग 12 साल के बाद महान क्रिप्टोग्राफर David Chaum ने Cryptography का उपयोग करके एक System तैयार किया जिसे DigiCash नाम दिया जोकि Economical Transaction के लिए उपयोगी था।

इसके अलावा 1998 में Wei Dai ने एक ऐसे Online Payment Method के बारे में सोचना शुरू किया जिसपर किसी का भी अधिकार न हो वह पूरी तरह से Decentralized हो ।

- Advertisement -

इसके बाद सन 2009 में एक व्यक्ति जिन्हें Satoshi Nakamoto नाम से जाना जाता है जिन्होंने पहली Cryptocurrency Bitcoin को बनाया था जिसका पूरा मतलब यही था कि एक Secure , Decentralized payment Method को बनाना था जिसे बिना किसी Institution के उपयोग में लाया जा सके । जैसा कि हमने पहले भी आपको बता दिया है कि यह पहले व्यक्ति नहीं थे जिन्हें Idea आया हो । हालांकि इनकी जानकारी अभी भी पूर्ण रूप से स्पष्ट नही है।

Cryptocurrency Value क्या है ? (What इस cryptocurrency value in hindi)

जैसे हर एक मुद्रा की अपने देश में कीमत होती है उसी तरह Cryptocurrency की भी एक खुद की value होती है । लेकिन इस Virtual Currency की कीमत में हमेशा उतार चढ़ाव लगा रहता है । इसके द्वारा आप Cryptocurrency Trading कर सकते हैं । इसकी value इसके Demand पर निर्भर करती है। हालांकि Cryptocurrency इस समय एक नही कई तरह की उपलब्ध है लेकिन इनमें सबसे ज्यादा Valuable और चर्चित है Bitcoin जिसकी कीमत भारतीय रुपयों में लगभग लाखों में है । 

इस तरह की मुद्राओं पर किसी का अधिकार न होने से इसे किसी के द्वारा Print नही किया जा सकता है इसे सिर्फ Blockchain technology के द्वारा Digits में लेनदेन किया जा सकता है। Cryptocurrency की value पूरे World में एक ही रहती है फिर चाहे आप किसी भी देश से इसका उपयोग करें । इस तरह की मुद्राओं को रखने के लिए आपको कई सारे Online platform मिल जाते हैं जहाँ से आप अपने Cryptocurrency के ट्रांसक्शन्स कर सकते हैं। अगर आप इस Currency को अपने Native Currency में बदलकर अपने बैंक में पैसे लेने चाहते हैं तो आप यह बहुत ही आसानी से कर सकते हैं ।

Cryptocurrency कैसे काम करती है  ?

यह एक blockchain technology पर आधारित होती है । इसे एक team के द्वारा मैनेज किया जाता है जोकि इसके यूज़र्स को एक Mining का option देते हैं जिससे Currency का कुछ हिस्सा आपके एकाउंट में बढ़ता रहता है। इसे Cryptography के द्वारा सुरक्षित रखा जाता है जोकि यह एक सुरक्षा प्रणाली है। 

Mining का मतलब यहाँ पर यह है कि जब कोई इस Cryptocurrency में किसके व्यक्ति को जोड़ता है या कोई Transaction करता है तो उसके इस Record को सुरक्षित रखा जाता है । इन Records के आधार पर उस व्यक्ति के Cryptocurrency खाते में Currency को जोड़ना है या कम करना किया जाता है। इसी पूरी प्रक्रिया को ही Mining कहते हैं ।

किसी नए व्यक्ति को इस Blockchain में जोड़ने के लिए Cryptography का उपयोग किया जाता है जिसमें एक Hash Alogorithm का उपयोग होता है जब भी कोई नया व्यक्ति जुड़ता है तो पहले से मौजूद Networks में Miners उस नए व्यक्ति की Hash key को Verify करते हैं और उसके बाद वह भी Network से जुड़ जाता है फिर Miner बन जाता है जोकि Mining कर सकता है। जिस Miner के द्वारा यह व्यक्ति जुड़ता ही उसे उस Cryptocurrency में Crypto Coins के रूप में Reward दिए जाते हैं जिसे एक प्रकार से Proof of work कहा जाता है ।

Cryptocurrency exchange Websites या Platform कौन कौन से हैं ?

Cryptocurrency Exchange एक ऐसी जगह होती जहाँ पर आप अपने Digital Currency की खरीद और बिक्री कर सकते हैं साथ ही साथ आप यहाँ पर Trading भी कर सकते हैं जिसे Cryptocurrency trading भी कहा जाता है । आप यहाँ पर जितना पैसा चाहे Invest कर सकते हैं लेकिन प्रत्येक ट्रांसक्शन का कुछ प्रतिशत आपको इन Cryptocurrency Exchange को देना होता है । इसे कई प्रकार के नामों से भी जाना जाता है Crypto Market , Digital Currency Exchange , Coin Market आदि । वैसे तो Crypto market सैकड़ो में पर हम यहाँ पर आपको कुछ विश्वसनीय और चर्चित Crypto Market के बारे में बताने जा रहे हैं जैसे –

  • Bittrex
  • Crypto
  • Bistamp
  • Binance
  • Coinbase
  • Bitfinex
  • Kraken
  • Bithumb
  • Biflyer
  • Coinone
  • Coincheck
  • Cucoin

Crypto market में Payment online mode में होता है जिसके लिए आप Wire transfer, Credit Card , Debit Card , UPI आदि का उपयोग कर सकते हैं। Crypto Exchange में आप Fiat Money (कागज़ी मुद्रा ) को Cryptocurrency और Cryptocurrency को Fiat money में बदल सकते हैं । 

Cryptocurrency Markets in India

भारत में बहुत से Crypto Market हैं जिनका उपयोग करके आप Cryptocurrency में खेल सकते हैं । आपने Wazirx का नाम सुना ही होगा क्योंकि भारत का सबसे पॉपुलर और यूज़ किये जाने वाला Crypto Market है । और अन्य Indian Cryptocurrency Market की बात करें तो , Coinswitch , Unocoin और CoinDCX हैं जोकि बहुत ही पॉपुलर हैं । इन प्लेटफॉर्म पर आप Bitcoin ,Ethereum , Doge, XRP ,YFI , YFII और  tron जैसे बहुत से Cryptocurrency को आप खरीद बेच सकते हैं साथ ही साथ trading कर सकते हैं। 

Cryptocurrencies के प्रकार ? (Type of cryptocurrency in hindi)

वैसे तो दुनिया भर में इस समय हज़ारो Cryptocurrency मौजूद हैं लेकिन इनमें सबसे ज्यादा उपयोग की जाने वाली Bitcoin है जिसका अपने कभी न कभी नाम तो जरूर सुना होगा । ऐसे हमारे पास बहुत विकल्प आ जाते हैं जिनमें हमें यह तय करना होता है कि कौन सी Cryptocurrency विश्वसनीय और फायदेमंद साबित होगी । इसके लिए हम आपको कुछ प्रसिद्ध क्रिप्टोकरेंसी के बारे में बताएंगे जिनपर आप भरोसा कर सकते हैं –

Bitcoin(BTC)

- Advertisement -

यह दुनिया की सबसे पहली Cryptocurrency है जिसे सबसे ज्यादा उपयोग में लाया जाता है । बहुत पहले से Cryptocurrency पर प्रयोग किये जा रहे थे लेकिन वो सब असफल रहे लेकिन 2009 में Satoshi Nakamoto के द्वारा यह Bitcoin बहुत ही सफल रही जिसने समय के साथ कई लोगों को करोड़ पति बना दिया ।

Litecoin(LTC)

इसकी शुरुआत अक्टूबर 2011 में हुई थी । Lightcoin में Hashing Algorithm के बजाए Scrypt का उपयोग किया जाता है। यह Bitcoin से कई गुना तेज है। यह एक Open source Cryptographical Platform की तरह कार्य करता है।

Peercoin (PPC)

यह peer to peer cryptocurrency है जोकि लगभग Bitcoin की तरह ही काम करती है लेकिन यह Bitcoin से 100 गुना तेज़ है Energy Efficiency के मामले में । इसे 2012 में बनाया गया था और यह Proof of work और Proof of stack दोनों का Combination का उपयोग करती है।

Monero (XMR)

यह एक Decentralized open source cryptocurrency है । यह प्रत्यक्ष रूप से Privacy और Decentralization पर ध्यान देने वाली currency है। इसे 2014 में लांच किया गया था । इसका ज्यादातर उपयोग Dark Web के लिए किया जाता है । Dark web से लेनदेन के लिए बहुत उपयोग की जाने वाली Cryptocurrency है ।

Ripple (XRP)

- Advertisement -

Ripple को एक अमेरिकी कंपनी Ripple Labs Inc. के द्वारा 2012 में बनाया गया था जोकि एक Cryptocurrency होने के साथ ही साथ Crypto Exchange भी है। यह एक Blockchain Network और Real-Time Gross Settlement System भी है ।

Ethereum (ETH)

इसे 2015 में Launch किया गया था लेकिन अब यह दुनिया की दूरी सबसे बड़ी Cryptocurrency बन गयी है। इस को सबसे ज्यादा Active यूज़र्स के द्वारा उपयोग में लाया जाता है। जोकि blockchain Technology का उपयोग करती है। 

Tether (USDT)

इसको 2014 में Realcoin के नाम से लांच किया गया और इसकी कीमत को fix कर दिया गया था जिसकी वजह से इसे Stablecoin के नाम से भी जाना जाता है। लेकिन वास्तव में इसका नाम 20 नवंबर 2014 को Tether रख दिया गया था ।

BitTorrent(BTT)

इसे Tron Foundation के द्वारा बनाया गया था जोकि एक File sharing protocol है जो peer to peer पर कार्य करता है । यह भी Blockchain टेक्नोलॉजी पर आधारित है जोकि Untrusted medium के मध्य File sharing को आसान बनाना है । BiTtorrent Token कमा कर इसे Fiat money में बदल जा सकता है।

NameCoin (NMC)

Namecoin की टेक्नोलॉजी Bitcoin पर आधारित है। इसकी official वेबसाइट का Domain Name .bit है जिस पर ICANN ( Internet Corporation Assigned Names and Numbers) का कोई नियंत्रण नही है। यह अपने Blockchain Transaction के database में data को रख सकता है। 

Cryptocurrency के फायदे क्या क्या है ?

देखा जाए तो बिना Cryptocurrency के भी हमारे सभी काम हो जाते हैं लेकिन इसके उपयोग से बहुत से काम और Online Transaction आसान बन जाते हैं जोकि हमारे लिए काफी फायदेमंद होते हैं। कुछ ऐसे ही फायदे हैं जोकि आपको जानना चाहिए –

  • इसके द्वारा हम दुनियाभर में किसी के साथ भी Online Transaction कर सकते हैं।
  • इस Currency पर किसी भी देश की Government का किसी प्रकार का नियंत्रण नही होता है ।
  • यह एक Digital Currency होने से इसमें किसी प्रकार का Fraud होने की बहुत ही असंका है।
  • इसमें किसी भी digital product को खरीदना ,बेचना और Invest करना बहुत ही आसान है ।
  • Cryptocurrency सुरक्षित है क्योंकि यह Cryptography का उपयोग करती है जिससे यह और secure हो जाती है।
  • इसमें आपको Account खोलने के लिए कहीं जाना नही पड़ता है आप अपने एक smart phone से सबकुछ कर सकते हैं।

Cryptocurrency के नुकसान क्या क्या हैं ?

Cryptocurrency के फ़ायदों के साथ उनके कुछ नुकसान भी हैं जिन्हें हम पता होना जरूरी है –

  • Cryptocurrency के द्वारा यदि आपके साथ कोई Fraud होता है तो आप इसके बारे में कहीं पर भी शिकायत नही कर सकते हैं।
  • Cryptocurrency का भौतिक अस्तित्व न होने की वजह से आप उसे हर जगह उपयोग में नहीं ला सकते हैं।
  • Dark Web का इस्तेमाल करके लोग Illegal Activities को करते हैं जैसे ड्रग्स, वेपन और भी चीजें खरीदते हैं ।
  • यह एक Digital मुद्रा होने की वजह से अगर इसकी सेक्युरिटी कमजोर हुई तो इसे Hack किया जा सकता है। जोकि पूरी तरह से असंतोषजनक बात है।
  • इसमें उतार चढ़ाव बहुत तेज़ी से होता है जिसकी वजह इसमें Trading करना बहुत riski है ।

क्या क्रिप्टोकरेंसी legal है ?

वैसे तो जब Cryptocurrency की शुरुआत तो यह पूरी तरह से हर देश में Illegal थी लेकिन बढ़ते लोकप्रियता को देखते हुए कई देशों ने इसे अपना और अब इन देशों में Cryptocurrency पूरी तरह से legal है। 

क्या भारत में क्रिप्टोकरेंसी लीगल है ?

जी हाँ , अब आप भारत में किसी भी cryptocurrency का उपयोग कर सकते हैं । यह पूरी तरह से legal कर दिया गया है।

दोस्तों उम्मीद है की मेरे द्वारा दी गयी जानकारी Cryptocurrency क्या है , आपको जरुर पसंद आयी होगी | अगर आपके कुछ सवाल हैं इससे जुड़े तो हमें कमेंट करके जरुर बताएं हम आपकी पूरी सहायता करेंगे | हमारे इस लेख को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें ताकि हमें आपकी तरफ से प्रोत्साहन मिल सके |

- Advertisement -
Pankaj Yadavhttp://hinditarget.com
नमस्कार दोस्तों  ! मै Pankaj Yadav , HindiTarget.com का Owner | मै एक Web Developer हूँ | मै इस ब्लॉग के माध्यम से नयी नयी जानकारियां लाता रहता हूँ। कृपया आप हमे SUPPORT करे ताकि हम आपसे इसी तरह जुड़े रहें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

हमसे जुड़े

506FansLike
300FollowersFollow
201FollowersFollow

नये लेख

सम्बन्धित लेख