Traffic rules in hindi – जाने कितना देना होगा जुरमाना

- Advertisement -

Traffic rules in hindi- भारत देश  में ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में दौड़ते वाहनों की संख्या का शायद ही आप अंदाजा लगा सकते हैं दिन प्रतिदिन दौड़ते वाहनों की संख्या बढ़ती ही जा रही है  और बढ़ते वाहनों के कारण से दुर्घटनाएं बढती ही  जा रही हैं इन दुर्घटनाओं को रोकने के लिए पूरे विश्व में प्रत्येक देशों की सरकारों द्वारा ट्रैफिक नियम बनाए जाते हैं। तो आइए हम सब जानते है की ट्रैफिक नियम क्या है इसका कैसे पालन होता है और इसके क्या क्या लाभ तथा हानि हैं।

यातायात के नियम क्या है ? ( What is Traffic Rule in Hindi)

सड़कों पर चलने वाले यात्रियों की सुरक्षा तथा सुविधा के लिए  सरकार द्वारा बनाए गए नियमों को यातायात के नियम (Traffic Rule) कहते हैं।

सन 1878 में गोटलिब डेमलर तथा कार्ल बेंज द्वारा पहले मोटर कार का अविष्कार किया गया। पहली मोटर कार के अविष्कार के बाद सन 1885 में पेट्रोल से चलने वाले इंजन का अविष्कार हुआ तथा  कुछ ही दिन बाद डेमलर के द्वारा सन 1886 में मोटर से चलने वाली कार का निर्माण किया गया।

इन मोटर कार के अविष्कार के कुछ सालो बाद जब पेट्रोल तथा डीजल  वाले वाहनों की बढ़ने लगी तो दुर्घटनाओं से बचाने के लिए प्रत्येक देश में सरकार द्वारा ट्रैफिक नियम बनाए गए Traffic Rule लगभग प्रत्येक जगह से एक समान होते हैं। Traffic Rules का पालन करने से दुर्घटनाओं की कम संभावनाएं होती हैं ज्यादातर दुर्घटनाएं Traffic Rules का पालन न करने से होती है ट्रैफिक नियमों से यातायात शुद्ध रहता है तथा वहां चालकों को भी वाहन चलाने में बहुत सुविधा रहती है। वाहन चलाते वाहन चालक को ट्रैफिक नियमों का ज्ञान होना अति आवश्यक है। चालक को ट्रैफिक नियमों का ज्ञान न होने से दुर्घटना की संभावनाएं बहुत अधिक बढ़ जाती है।

जैसा कि आप लोग सब जानते है की सड़को पर वाहनों को चलाने के लिए टैफिक नियमों का ज्ञान होना अति आवश्यक  है तो आइए आगे हम बताते हैं सभी टैफिस नियमों के बारे में। ट्रैफिक नियमों के बहुत से नियम हैं। जिनकी जरूरत  सड़क पर चलते समय बहुत अधिक होती है। सड़क पर चलते समय ट्रैफिक नियमों के साथ साथ ट्रैफिक चिन्हों की भी जानकारी होने अति आवश्यक हैं।

यातायात के नियम ( Traffic rules in hindi)

बात करे यातायात के नियमों की तो बहुत से ऐसे नियम है जिनको सड़क पर चलते समय हमेशा याद रखे चाहिए —

वाहन चालक के लिए नियम- 

  • वाहन चालक की उम्र हमेशा 18 वर्ष होनी चाहिए 18 वर्ष से कम उम्र के चालक द्वारा वहां चलाना ट्रैफिक नियमों के खिलाफ है जिससे की जिससे की चालक के वाहन का चालान कट सकता है।
  • वाहन चलाते समय हमेशा वाहन के कागज ( RC,Insurance, Pollution)  साथ होना चाहिए।
  • ड्राइवर का ड्राइविंग लाइसेंस साथ होना अति आवश्यक है। 
  • वाहन चालक को यातायात के नियमों का भलीभांति ज्ञान होना चाहिए।  
  • यदि चालक चार पहिए का वाहन चला रहा है तो शीट बेल्ट जरूर लगाए।
  • चालक यदि दो पहिए का वाहन चला रहा है तो हेलमेट के साथ साथ हाथ में दस्ताने तथा पैर में जूतों का होना आवश्यक है। तथा वहां चलाते समय  फोन का प्रयोग न करे।

वाहन चलाने के लिए नियम-

वाहन चलाते समय हमेशा नीचे बताए गए नियमों का पालन करे-

दो पहिए वाहन चलाते समय – 

traffic rules in hindi (1)
traffic rules in hindi (1)
  • दो पहिया वाहन चलाते समय हमेशा हेलमेट का प्रयोग करे । 
  • दो पहिए वाहन पर दो व्यक्तियों से अधिक व्यक्ति कभी ना बैठे।
  • दो पहिए वाहन चलाते समय जूते हाथों में दस्ताने पहन कर रखना चाहिए।
  • वाहन के कागज RC, प्रदूषण तथा चालक को अपना ड्राइविंग लाइसेंस हमेशा पास रखना चाहिए।
  • दो पहिया वाहन चलाते समय हमेशा देख ले की वाहन सही है या नहीं। वाहन में दोनो तरफ ( दाएं तथा बाएं) शीशे लगे होने चाहिए जिससे की दोनो तरफ की Side देख सके और जिधर गाड़ी को मोड़ना है उधर आसानी से मुड़ सके इससे Accident होने के Chances बहुत कम हो जाते हैं
  • गाड़ी चलाते समय किसी अन्य गाड़ी से दूरी बनाकर चले तथा किसी अन्य व्यक्ति से बात न करें।

चार पहिया वाहन चलाते समय-

  • चार पहिया वाहन चलाते समय शीट बेल्ट का प्रयोग करे। 
  • चार पहिया वाहन चलाते समय हमेशा याद रखे की आप जिस वाहन को चला रहे है उसमे दोनो तरफ शीशे होने चाहिए ।
  • चार पहिया वाहन को किसी स्थान पर रोकने के बाद वाहन में लगे Handbrake का प्रयोग करें।
  • चार पहिया वाहन चलाते समय सिंगल रोड पर हमेशा दाएं साइड से ही ओवरटेक करें।
  • वाहन में हमेशा किमी के ही हिसाब से यात्री बैठने चाहिए।
  • अगर आपको वाहन को रोकना है तो वाहन चालक अपने हाथो का प्रयोग करके रोक सकता है।
  • वाहन को रोकने के लिए चालक अपने  दाएं हाथ को बाहर निकालकर बिना  हवा हिलाए वाहन को रोक सकता है।

>टेलीविजन का आविष्कार किसने किया ?

हाईवे के लिए नियम –

traffic rules in hindi (1)
traffic rules in hindi (1)
  • जब आप गाड़ी को हाईवे पर चला रहे हो तो कुछ बातो को जरूर ही याद रखें –
  • हाईवे पर चलते समय हमेशा अपने से बाएं साइड की रोड पर ही चलना चाहिए।
  • अपने वाहन में लगे शीशे में साइड से आने वाले दूसरे वाहन को देखते रहें। 
  • हाईवे पर चलने की गति सीमा निर्धारित होती है। तो निर्धारित गतिसीमा में ही वाहन चलाए।
  • हाईवे पर वाहन चलाने वाले चालक को रोड लाइट का ज्ञान होना बहुत ही जरूरी है।
  • हाईवे पर चलते समय हमेशा रोड पर लगी हुई लाइटों पर नजर रखे की कब कौन सी लाइट जल रही है।
  • अगर आपको भी  इन लाइटों की जानकारी नहीं है तो आगे हम इन सभी लाइटों के बारे में जानकारी देने वाले हैं।
  • हाईवे पर मुड़ने के लिए आपको पहले आपको जिधर मुड़ना है उस साइड का Indicator जलाए तथा उस साइड के Mirror में पीछे आ रहे वाहन को देखे अगर वो वाहन आपकी ही साइड में आ रहा और ज्यादा पास आ गया है तो उसे आगे निकल जाने दे तथा बाद में अपने वाहन को साइड में लाके धीरे धीरे मोड़ दे।
  • अगर आपको हाईवे की दूसरी रोड पे जाना है तो आपको दूसरी रोड पर जाने के लिए मुड़ने के स्थान को खोजना होगा मुड़ने वाला स्थान मिलते ही हम अपनी बाएं चल रहे वाहन को धीरे धीरे दाएं साइड में लाते है और फिर दूसरी रोड के वाहन को देखते हुए मोड़ते हैं।

पैदल या साइकिल वाले यात्रियों के लिए नियम-

traffic rules in hindi (1)
traffic rules in hindi (1)
  • रोड पर पैदल या साइकिल से चलने वाले यात्रियों को हमेशा फुटपाथ पर ही चलना चाहिए।
  • अगर पैदल वाले यात्रियों को रोड पार करनी है तो उन्हें  केवल जेब्रा क्रॉसिंग से ही रोड पार करनी चाहिए।
  • रोड को पार करने के लिए सबसे पहले रोड पर लगी लाइटों में से RED Light जलने का इंतजार करना चाहिए।
  • RED Light के जलते ही वाहन रुक जाते है तब आपको RED Light बंद होने से पहले एक रोड पर कर लेना होता है। 

रोड पर लगी लाइटों का ज्ञान

जब आप रोड पर चलते है तो आपको रोड पर तीन लाइट लगी दिखाई देती है तो आपको इन लाइटों के अनुसार चलना या रुकना होता है तो आपको इन लाइटों की जानकारी होना बहुत जरूरी है। लगभग जानकारी होगी भी अगर नहीं है तो हम बताते है।

लाल बत्ती ( Red Light)-

traffic rules in hindi (1)
traffic rules in hindi (1)
- Advertisement -

लाल बत्ती का मतलब या संकेत होता है रुकना। मतलब यदि चौराहे पर आपको लाल बत्ती जलते दिखे तो आप समझ लीजिए कि रुकना  है।

पीली बत्ती (Yellow Light)-

traffic rules in hindi (1)
traffic rules in hindi (1)

पीली बत्ती का मतलब होता है तैयार होना। मतलब यदि रुकने के बाद आपको पीली बत्ती जलते दिखे तो आप चलने के लिए तैयार हो जाइए।

हरी बत्ती (Green Light)-

traffic rules in hindi (1)
traffic rules in hindi (1)

हरी बत्ती का मतलब होता है चलना। पीली बत्ती के बाद जैसे ही हरी बत्ती जलते दिखे तो आपको तुरंत चल देना होता है।

यातायात के नियम से संबंधित सड़को पर लगी तीन लाइट के बारे में जानकारी होना आवश्यक है जिसके बारे में हम लोगो ने जान लिया।

अब जानते है यातायात के कुछ अन्य महत्वपूर्ण नियमों के बारे में –

ओवरटेक क्या है ?( What is overtake in hindi)

traffic rules in hindi

सड़क पर गाड़ी चलाते समय सामने वाली गाड़ी को ओवरटेक नहीं करना चाहिए ओवरटेक करने से दुर्घटनाओं के मौके बहुत बढ़ जाते है अगर किसी कारण वश ओवर टेक करना जरूरी होता है तो ओवरटेक करने से पहले आप सामने वाले वाहन के बारे में भलीभांति जान ले की आगे वाला वाहन कितनी रफ्तार (Speed) में है अगर आगे वाला वाहन आपके वाहन से ज्यादा रफ्तार में है तो उसे कभी ओवरटेक न करे। अगर आगे वाले वाहन की रफ्तार आपके वाहन से कम है तो कुछ देर तक Horn दे जब आगे वाले वाहन का Driver वाहन को ओवरटेक करने की अनुमति दे तो आप ओवरटेक कर सकते हैं। जिससे आप अपने गंतव्य स्थान तक आसानी से पहुंच सकते हैं।

Horn का प्रयोग कैसे करें ?

traffic rules in hindi
traffic rules in hindi

वाहन को चलाते समय वाहन चालक को हमेशा ध्यान रखना कि वाहन का Horn ज्यादा देर तक नहीं बजाना चाहिए ज्यादा देर हॉर्न बजाने से कोई फायदा नहीं होता है अक्सर लोग सोचते है की Horn बजाने से सामने खड़े लोग रास्ता दे देंगे या Signal जल्दी खोल दिया जाएगा तो ऐसा कुछ भी नहीं है ज्यादा देर तक Horn बजाने से लोगो के कानो में लगातार वही द्वारा पड़ने से लोगो में गुस्सा भी आता है जिससे आपको पब्लिक के द्वारा अनेकों कष्ट झेलने पड़ सकते हैं। इसीलिए वाहन चलाते समय उपयोग से ज्यादा Horn नहीं बजाना चाहिए।

रफ्तार सीमा (Speed Limit

traffic rules in hindi (1)
traffic rules in hindi (1)

वाहन चलाते समय रफ्तार सीमा को जरूर ही ध्यान में रखे अक्सर सभी रोड़ो पर रफ्तार सीमा लिखी होती है हमेशा वाहन रफ्तार सीमा देखकर ही चलाए आप अपने वाहन की रफ्तार सीमा देखकर वाहन चलाए अगर की गति सीमा 60 km/h या इससे कम लिखी है तो आप इसी गति सीमा के हिसाब से ही गाड़ी चलाए जिससे की आप होनी वाली दुर्घटनाओ से बच सके और सही सलामत अपने गंतव्य स्थान तक पहुंच सके।

- Advertisement -

Indicator तथा हाथो के निर्देशों का प्रयोग 

यदि आप वाहन चला रहे हैं और आपको किसी चौराहे पर मुड़ना है तो आपको जिस दिशा वाली रोड पर मुड़ना है तो आपको उसी दिशा के इंडिकेटर का प्रयोग करना चाहिए आप Indicator के साथ साथ अपने हाथो का भी प्रयोग कर सकते है आपको जिस दिशा (दाएं या बाएं) में मुड़ना है तो आपको उसी दिशा का हाथ हवा में उठाकर थोड़ी देर हिलाना होगा जिससे की पीछे वाला वाहन चालक समझ जाएगा की अपलक मुड़ना है।

वाहन पार्किंग

वाहन चालक अपने वाहन को पार्क करते समय हमेशा याद की वाहन को हमेशा वाहन पार्किंग वाली जगह पर ही पार्क करे No Parking पार्किंग वाली जगह पर गाड़ी को कभी न पार्क करे। तथा वाहन पार्क करते समय हमेशा याद रखे की आपके वाहन की वजह से किसी दुसरे वाहन चालक को कोई परेशानी न हो।

एक ओर का मार्ग ( One way) 

One way का मतलब होता है एक ही  तरफ जाने वाला रास्ता अर्थात One way पर चलने वाले वाहन केवल एक ही दिशा की ओर चल सकते हैं। One way सड़क पर जाने के डाटा दुष्ट तथा आने का रास्ता दूसरा होता है।

कुछ जरूरी नियम का उल्लंघन करने से आपका चालान कट सकता है –

  • वाहन चलाते समय नियमों को उल्लंघन करने से कट सकता है चालान।
  • दो पहिया वाहन चलाते समय बिना हेलमेट के पकड़े जाने पर।
  • दो पहिए वाहन चलाते समय जूते तथा दस्ताने न पहनने पर।
  • नाबालिक के गाड़ी चलाने पर।
  • वाहन चलाते समय फोन पर बात करना या इयरफोन लगाने पर।
  • चार पहिया वाहन चलाते समय शीट बेट न लगाने पर।
  • दो पहिए पर दो सवारी से अधिक  बैठने पर।
  • सिंगल तोड़ने पर।
  • नो पार्किंग में गाड़ी पार्क करने पर ।
  • वाहन के पूरे कागज तथा वाहन चालक का ड्राइविंग लाइसेंस न होने पर।
  • बिना नंबर के गाड़ी चलाने पर ।
  • वाहन रोकने पर किसी पुलिस अधिकारी से दुर्व्यवहार करने पर ।
  • तय की गई रफ्तार से ज्यादा रफ्तार में  चलाने पर।
  • जेब्रा क्रॉसिंग को बिना निर्देश के पार करने पर।
  • रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट न दिखाने पर ।
  • मदिरा या नशीले पदार्थ का सेवन करके वाहन चलाने पर।
  • प्रदूषण के कागज न होने पर।
  • लिमिट से ज्यादा तेज वाहन चलाने पर।
  • भार वाहन जैसे DCM, Pickup, ट्रैक्टर तथा ट्रक आदि वाहन पर ओवरलोडिंग करने पर।
  • बिना नंबर के वाहन को सीज कर दिया जाता है।
  • किसी भी इमरजेंसी वाहन को जैसे  एंबुलेंस, फायर ब्रिगेड,पुलिस  को तरसा न देने पर।

ट्रैफिक चालान के लिए भुगतान की जानी वाली राशियां –

- Advertisement -

सरकार द्वारा बनाए गए नियमों को तोड़ने सरकार द्वारा लगाए गए जुर्माने की सूची

नियम    जुर्माना
हेलमेट न लगाने पर     100 ₹ से 1000  तक
दो पहिए वाहन पर दो से अधिक व्यक्ति बैठने पर100₹ से 2000 तक
शराब पीकर वाहन चलाने पर2000₹ से10000 तक
चार पहिए वाहन चलाते समय शीट बेल्ट न लगाने में100₹ से 1000 तक
फोन पर बात करने पर 500₹ से 1000 तक
सिग्नल  तोड़ने पर1000₹
इमरजेंसी वाहन को रास्ता न देने पर1000₹ से 10000
लिमिट से तेज गाड़ी चलाने पर500₹ से 1000 तक 
लाइसेंस की तारीख खत्म होने पर5000₹
दो पहिए ओवरलोडिंग100₹ से 500 तक
चार पहिए ओवरलोडिंग20000₹
बीमा न होने पर 2000₹
यातायात पुलिस से बहस करने पर  500₹ से 2000 तक
बिना लाइसेंस गाड़ी चलाने पर500₹ से 5000 तक
रेसिंग करने पर500₹ से 5000 तक

ट्रैफिक चिन्ह का मतलब (Meaning of traffic symbols) 

traffic rules in hindi
traffic rules in hindi

ट्रैफिक चिन्ह का ट्रैफिक नियम में बहुत मान्यता होती है और यह चिन्ह बहुत ही जरूरी होते है जिन्हे इन ट्रैफिक जानकारी नहीं है तो आगे हम बताते हैं ट्रैफिक चिन्ह के बारे में 

No Left  Turn – इस चिन्ह का मतलब होता है की बाएं न मुड़े। तथा जहां आपको ऐसा चिन्ह लगा मिले तो आपको बाएं नहीं मुड़ना है।

No Right Turn- इस चिन्ह का मतलब होता है की दाएं न मुड़े।             

No Parking – जहां भी आपको यह चिन्ह (No Parking) दिखे वहां आपको अपना वाहन नहीं खड़ा करना है।

No Stopping – इस निशान के लगे होने पर आप चलती हुई गाड़ी को रोक नही सकते हैं।

One way- यह चिन्ह ज्यादा तर हाईवे पर पर लगे होते हैं इस चिन्ह वाली जगह पर आप केवल एक ही रास्ता तरफ गाड़ी चला सकते हैं।

No Overtaking – इस चिन्ह के लगे होने का मतलब होता है की आप अपने से आगे चलती हुई गाड़ी से आगे नहीं निकल सकते।

Prohibited  Area- इस Area में लगे निशान का निर्देश आप इस  area में वाहन ले नही जा सकते है।

Horn Prohibited – ये चिन्ह ऐसे जगह पर पाए जाते जहां हॉर्न बजाने की अनुमति नहीं होती है।

U Turn- चिन्ह के लगे होने का मतलब होता है की आप वाहन को चलाते हुए फिर पीछे के ओर मोड़ नही सकते हैं।

No Cycle – यह चिन्ह जहां लगा होता है उस जगह पर केवल आपको साइकिल चलाने की इजाजत नहीं होती है।

No Entry – यह चिन्ह जहां लगा होता है वहां आप वाहन नहीं ले सकते हैं।

Left Turn – इस चिन्ह के लगे होने पर अपनी बाई दिशा में ही मुड़ना जरूरी होता है।

Right Turn- इस चिन्ह के लगे होने पर आपको दाएं दिशा में ही मुड़ना जरूरी होता  हैं।

तांगा बैलगाड़ी प्रवेश वर्जित- ऐसा निशान दिखने पर वाले स्थानों पर बैलगाड़ी, तांगा का प्रवेश वर्जित रहता है।

School – इस निशान के लगे होने के निर्देश होता है की आगे स्कूल है।

Narrow Road – इस निशान के लगे होने का मतलब होता है की आगे रास्ता सकरा है।

Railway Crossing- इस निशान के लगे होने का मतलब होता है की आगे कुछ दूर पर Railway Crossing है।

एक नजर इधर भी –

दोस्तों इस लेख में हमने आपको ट्रैफिक रूल्स क्या हैं इसके बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश की अगर आपको इस लेख में किसी भी प्रकार का कोई संदेह हो तो हमें कमेंट करके जरुर बताये हम आपकी पूरी मदद करेंगे |

- Advertisement -
Pankaj Yadavhttp://hinditarget.com
नमस्कार दोस्तों  ! मै Pankaj Yadav , HindiTarget.com का Owner | मै एक Web Developer हूँ | मै इस ब्लॉग के माध्यम से नयी नयी जानकारियां लाता रहता हूँ। कृपया आप हमे SUPPORT करे ताकि हम आपसे इसी तरह जुड़े रहें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

हमसे जुड़े

506FansLike
300FollowersFollow
201FollowersFollow

नये लेख

सम्बन्धित लेख