2024 में कब हैं तिलवा जानिये तिलवा की सम्पूर्ण जानकारी-

- Advertisement -

Tillva vrat ki puri jankari in Hindi-

दोस्तों क्या आप सभी को पता की यह लड़को का व्रत जिसे तिल्लवा बोलते हैं।यह कब होता हैं और यह व्रत मनाया क्यू जाता हैं। यह बहुत सालो से बनाया जाने वाला तिलवा व्रत के बारे में जानिए।यह व्रत औरतों के द्वारा किया जाता हैं।

तिलवा कब और क्यू मनाया जाता हैं-

दोस्तों क्या आप सभी जानते हैं कि तिलवा का व्रत औरतें क्यू रखती हैं और कब। दोस्तों आप सभी को बता दे कि यह व्रत औरतें अपने लड़को के लम्बी उम्र के लिए रखती हैं।जिन – जिन औरतों के लड़के होते हैं वे सभी औरतें अपने बच्चो के लिए व्रत करती हैं और यह व्रत मकर संक्रांति के चार दिन बाद मनाया जाता है।

तिलवा व्रत की कथा सम्पूर्ण कथा-

  •  लोग तिलवा व्रत की कथा में एक समय की बात है, जब एक युवक नामक तील्लवा अपनी भक्ति में लीन था। वह भगवान विष्णु के प्रेमी थे और उनका दिन रात्रि में भगवान की पूजा करने में ही गुज़रता था।
  • एक दिन, तिलवा ने अपने मित्रों के साथ भगवान की महिमा सुनते हुए एक व्रत करने का संकल्प किया। इस व्रत में वह एक साल तक सिर्फ एक बार ही अनाज खाएँगे और उस दिन भगवान की पूजा करेंगे।
  •  तिलवा ने इस व्रत को धारण करते हुए एक वर्ष तक नियमित रूप से अपना व्रत निभाया और भगवान की पूजा में लगे रहे। उनकी निष्ठा और तपस्या ने भगवान को प्रसन्न किया।
  • एक दिन व्रत के समाप्त होने पर, भगवान विष्णु तिल्लवा के समक्ष प्रकट हुए और उन्हें आशीर्वाद दिया। भगवान ने तिलवा की भक्ति को देखकर उन्हें वरदान दिए और उनके व्रत को स्वीकार किया।
  • तिलवा  व्रत की कथा से हमें यह सिखने को मिलता है कि भक्ति और निष्ठा से किया गया हर साधना भगवान को प्रिय होता है और वह हमें आशीर्वाद प्रदान करते हैं।

तिलवा व्रत में लगने वाली सामग्री दोस्तों-

दोस्तों क्या आप सभी को पता हैं कि तिलवा में क्या – क्या सामग्री प्रयोग में लाई जाती है।तो चलिए जानते हैं।

  • तिलवा पूजन तो सभी करते हैं पर इसकी सामग्री क्या हैं सबसे पहले आम की लकड़ी का बना हम पेढा जिस पर रोटी बेली जाती है।
  • फिर उस पर हम सात गंजे रखते हैं ओर तिल ओर गुड़ से बनी आसे उस पर रखते हैं वो भी सात।
  • ओर गौर की जाती हैं जिस पर सिंदूर चढ़ाया जाता हैं।
  • मिट्टी की सात गोली लेते हैं जो उस पर सिंदूर लगाकर वो भी उसी पेढा पर रखते हैं।
  • ओर फिर औरतें व्रत की कथा कहती हैं गीत गाती हैं ओर फिर व्रत पूरा होने पर वह प्रसाद पहले अपने लड़को को देती हैं जो उन्ही के लिए ये व्रत होता हैं।

दोस्तों तो ये हैं तिलवा व्रत की जानकारी (in Hindi) में। दोस्तों हम आशा करते हैं कि ये जानकारी जानकर आप सभी को पसंद आयी होगी अगर पसंद आई हो तो अपने दोस्तों में जरूर शेयर कीजिएगा ।

- Advertisement -
Neha Yadav
Neha Yadav
यह लेख Hindi Target की लेखिका NEHA YADAV के द्वारा लिखा गया है | यदि आपको लेख पसंद आया हो तो Hindi Target Team आप से उम्मीद रखती है कि आप इस लेख को ज्यादा से ज्यादा Share करेंगे | धन्यवाद !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

हमसे जुड़े

506FansLike
300FollowersFollow
201FollowersFollow

नये लेख

सम्बन्धित लेख