Tapioca meaning in hindi : टैपिओका कसावा क्या है What is tapioca in hindi इसके अनोखे फायदे जाने हिंदी में

- Advertisement -

Tapioca in hindi : एक चमत्कारी औषधि के रूप में -इंसान जिस दिन से इस संसार में आता उसी दिन से लेकर मरते दम तक उसकी कोई न कोई दवाई चलती रहती है ज्यादातर लोगों की यही समस्या है। लेकिन इस समस्या से काफी हद तक बचे रहने के लिए इस लेख में टैपिओका के बारे में पूर्ण रूप से बात करने वाले हैं। अगर आप भी रोज मर्रा की जिंदगी में किसी न किसी छोटी मोटी बीमारियों से परेशान रहते हैं तो आपको यह पोस्ट जरूर अंत तक पढ़नी चाहिए। 

टैपिओका क्या है ?(Tapioca meaning in hindi , कसावा मीनिंग इन हिंदी ) इस बारे में तो आपको पता ही चलेगा साथ ही साथ इसका उपयोग कहां कहां किया जाता है , इसके उपयोग से होने वाले चमत्कारी लाभ क्या क्या है जोकि आपके रोजाना जिंदगी हो बहुत ही हेल्थी बना सकती है। क्योंकि टैपिओका का उपयोग पूर्ण तरीके से एक औषधि के रूप में किया जाता है । तो लेख में हम आपको टैपिओका क्या है , टैपिओका का उपयोग कैसे करें और इससे हमें क्या क्या लाभ होते हैं यह सभी प्रकार की जानकारी आपको बताएंगे । तो चलिए जानते हैं –

टैपिओका क्या है ? (What is tapioca in hindi ?)

tapioca in hindi
tapioca in hindi

टैपिओका को टैपिओका कसावा ( Tapioca Cassava) नाम से भी जाना जाता है। यह एक प्रकार के पेड़ की जड़ों और तनों का भाग होता है जिसे ज्यादातर अफ्रीका में पाया जाता है । इन पेड़ों का नाम सैगो पाम होता है जिनकी जड़ें बहुत ही मोटी होती हैं । इनकी जड़ों को काटने पर इनके अंदर हमे सफेद रंग गूदा मिलता है जिसके द्वारा ही टैपिओका कसावा बनाया जाता है। यह लगभग भारत में पाए जाने वाले शकरकंद जिसे sweet potato भी कहा जाता है वैसे ही दिखता है। टैपिओका एक प्रकार का Starch होता है जोकि इन पेड़ों की जड़ों में पाया जाता है। इन पेड़ों की जड़ों से जो भी स्टार्च होता है उसका पाउडर तैयार करके कई उपयोगी खाने की चीजें बनाई जाती हैं जोकि बहुत ही फायदेमंद होती हैं। भारत में जो साबूदाना बनाया जाता है उसमें भी टैपिओका कसावा का यूज़ किया जाता है। 

टैपिओका की तासीर कैसी होती है ?

टैपिओका की तासीर ठंडी पाई जाती है , जोकि बहुत से रोगों से लड़ने के लिए सक्षम होती है। जिस व्यक्ति का पेट अक्सर खराब रहता है या जिसे एसिडिटी की , वात पित्त की जैसी समस्या रहती है उनके लिए टैपिओका का सेवन बहुत ही फायदेमंद साबित होता है।

टैपिओका का पौधा कैसा होता है ?(How does tapioca look like ?)

tapioca plant in hindi
tapioca in hindi

tapioca plant in hindi: यह मुख्य रूप से दक्षिण अमेरिका में पाया जाने वाला पौधा है जिसकी जड़ों से कई प्रकार की जरूरत की चीजें बनाई जाती हैं। Cassava दिखने में ताड़ की तरह का पेड़ होता है इसका वैज्ञानिक नाम Manihot Esculenta है । कसावा के पेड़ की जड़ें जिसे टैपिओका कहा जाता है यह Carbohydrates का बहुत बड़ा स्रोत हैं । इनकी जड़ें नार्मल पेड़ों से बिल्कुल अलग होती हैं यह पेड़ों की तनों की तरह लगती हैं । यह काफी मोती भी होती हैं जिससे कि इनके अंदर उपलब्ध स्टार्च की मात्रा प्रर्याप्त होती है पाउडर भी काफी मात्रा में बनाया जा सकता है।

tapioca in hindi
tapioca in hindi

टैपिओका का उत्पादन कहाँ कहाँ पर होता है ? (Where all is tapioca grown ?)

टैपिओका एक उच्च क़िस्म पेड़ों की जड़ होती है जिसे कई जरूरी खाने की वस्तुएं बनाई जाती हैं जिसके कारण इसका उपयोग पूरी दुनिया में किया जाता है । इस वजह से इसे बहुत से देशों में उगाया जाता है। लेकिन यह ज्यादातर ब्राज़ील , थाईलैंड , अमेरिका और मलेशिया जैसे देशों में इसकी खेती की जाती है। भारत की बात करें तो यहां पर इसके कुछ राज्यों में कई इसकी खपत अच्छी है जैसे केरल ,आंध्रप्रदेश और तमिलनाडु जोकि भारत के दक्षिणी राज्य हैं ।

टैपिओका के प्रकार ( Types of tapioca in hindi)

टैपिओका को जैसे हमने पहले भी बताया कई प्रकार से उपयोग में लाया जाता है इसीलिए यहां पर आपको इसके प्रकार के बारे में बता रहें –

टैपिओका बबल टी (Tapioca bubble tea in hindi)

tapioca in hindi
tapioca in hindi

टैपिओका बबल टी एक प्रकार की चाय की तरह का पेय होता है । इसका उपयोग ताइवान में किया जाता है । इसके कई सारे और भी फ्लेवर उपलब्ध हैं जोकि सिर्फ पेय बनाने के लिए होते हैं।

टैपिओका चिप्स (Tapioca chips in hindi)

जैसा कि आप जानते हैं कि cassava की जड़ें काफी मोटी होती हैं तो इन्हें काटने और छीलने में कोई दिक्कत नहीं आती है । इनकी जड़ों को अच्छे से साफ किया जाता है फिर इन्हें छोटे छोटे चिप्स के आकार में काटा जाता है और फिर इन्हें सूखा कर पैकिंग करके इन्हें रखा जाता है और जरूरत पड़ने पर इन टैपिओका चिप्स का सेवन किया जाता है यह काफी स्वादिस्ट भी होती हैं । 

टैपिओका पाउडर (Tapioca Powder in hindi)

tapioca in hindi
tapioca in hindi
- Advertisement -

कसावा के जड़ों की ऊपरी हिस्से को हटाने पर यह हमें सफेद रंग का दिखाई देता है जिसे सुखाकर इसका पाउडर बनाया जाता है इसका पाउडर भी सफेद रंग का होता है जोकि काफी चिकना होता । इस पाउडर का उपयोग औषधि बनाने के काम में लिया जाता है।

टैपिओका बॉल्स (Tapioca balls in hindi)

टैपिओका पाउडर के द्वारा गोलियां बनाई जाती हैं जिनका उपयोग मेडिकल क्षेत्र में किया जाता है यह गोलियां हमारे मुह में बहुत ही जल्द गलने लगती हैं लेकिन इनका कोई स्वाद नही होता है। इनके कई बीमारियों के इलाज में खाया जाता है।

टैपिओका पर्ल्स या साबूदाना ( Tapioca pearls in hindi)

tapioca in hindi
tapioca in hindi

साबूदाना एक प्रकार के छोटी छोटी मोतियों की तरह होते हैं । इसे टैपिओका पर्ल्स बनाने के लिए सबसे पहले कसावा की जड़ों को पाउडर में बदल जाता है उसके बाद इसे कई दिनों तक गलाया जाता है जिसमें की अनावश्यक तत्व को मोटी के रूप इन बदल जा सके । फिर इसका पेस्ट बनाकर मशीनों में डाला जाता है जिससे मशीनें इसे छोटी छोटी सफेद मोतियों में बदल देता है। इस टैपिओका पर्ल्स का उपयोग घरों में दूध के साथ खीर को तरह उपयोग में लाया जाता है जोकि काफी पौष्टिक होता है।

आयुष्मान भारत योजना क्या है ? कैसे उठाये 5 लाख तक का लाभ पूरी जानकारी |

टैपिओका में पाए जाने वाले पौष्टिक तत्व (Nutrients tapioca in hindi)

टैपिओका का उपयोग बहुत ही ज्यादा मात्रा में हर जगह किया जाता है और इसकी खेती बहुत देशों में कई जाती है जिसका उत्पादन बढ़ाया जाता है और इसे बेच कर लोग काफी पैसा भी कमाते हैं लेकिन इनकी इतनी मांग क्यों है यह जानना भी काफी जरूरी है। इसमें कई ऐसे तत्व पाए जाते हैं जोकि हमारे शरीर के ग्रोथ के लोए और और उसे हेल्थी बनाये रखने के लिए कारगर हैं जैसे – पंटूथनिक एसिड , नियासिन , मैगनीज , पोटैशियम , विटामिन बी 6, आयरन , कैल्शियम , ओमेगा 3 फैटी एसिड , जिंक , फोलिक एसिड , फोलेट , कार्बोहायड्रेट , कैलोरी , कॉपर, प्रोटीन , सेलेनियम , फॉस्फोरस आदि।

यह सभी चीजें हमारे शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं । जिससे हमारा शरीर स्वस्थ रहता है। 

टैपिओका से होने वाले फायदे (Benefits of tapioca in hindi )

टैपिओका में बहुत ही फायदेमंद ग्रेडिएंटस पाए जाते हैं । जोकि हमारे को बहुत स्वस्थ और फूर्त रखने में कारगर है । यह कार्बोहायड्रेट का बहुत बड़ा स्रोत है जहां पर कार्बोहायड्रेट की डेफिशियेंसी पाई जाती है वहां पर टैपिओका का उपयोग निश्चित रूप से किया जा सकता है । इसके फायदे यहीं तक सीमित नहीं हैं और भी फायदे हैं जिनकी वजह से टैपिओका बहुत उपयोगी है । तो चलिये देखते हैं अन्य फायदे –

वजन बढ़ाने में अत्यधिक उपयोगी 

दुनियाभर में पतलापन और मोटापा से काफी लोग परेशान हैं । किसी भी व्यक्ति का वजन उसकी लंबाई के हिसाब से तय की जाती है यदि किसी व्यक्ति की लंबाई के अनुसार उसका वजन कम है तो उसमें अनेक प्रकार की बीमारियां होने लगती हैं और उसे हमेशा कमजोरी का सामना करना पड़ता है । अगर किसी भी व्यक्ति का वजन कम है और वो अपना वजन बढ़ाना चाहता है तो वह टैपिओका का नियमित सेवन करके अपने वजन को कम समय में अच्छे से बढ़ा सकता है क्योंकि इसमें इसमें भरपूर मात्रा में कैलोरी और कार्बोहाइड्रेट पाए जाते हैं जोकि किसी व्यक्ति के वजन बढ़ाने में आसानी से सहायक होते हैं ।

मधुमेह में अत्यधिक लाभदायक

मधुमेह एक उम्र से ज्यादा लोगों को बहुत ही अधिक घातक और परेसान करने वाली बीमारी है । इसमें लोगों के खानपान की वजह से इनका शुगर का स्तर बढ़ जाता है जिससे कई बीमारियां उत्पन्न होने लगती हैं । ऐसे इसके स्तर को अच्छा बनाये रखने के लिए टैपिओका का उपयोग काफी कारगर साबित होता है क्योंकि इसमें सुगर की मात्रा काफी कम होती और इसमें कई ऐसे तत्व होते हैं जो सुगर से कारण उत्पन्न होने वाली अन्य बीमारियों को कम करता है। इसके साथ आपको डॉक्टर की परामर्श जरूरी होती है आप सिर्फ इसी के भरोसे पर न रहें ।

सिर दर्द में कामगार

सभी को कभी कभी थोड़ा बहुत सिर दर्द होता है जिससे कुछ समय बाद कुछ दर्द निवारक दवाएं लेकर ठीक हो जाता है । कुछ लोगों को सिर दर्द की गम्भीर समस्या हो जाती है जिसकी वजह से इनका सिर दर्द हमेशा बना रहता है कुछ दवाएं लेने पर तक हो जाता है लेकिन जैसे दवा का असर खत्म होता है दर्द फिर से बढ़ने लगता है। ऐसे में इसका एक पूर्ण रूप से इलाज होना आवश्यक हो जाता नही तो कुछ समय बाद हमारा दिमाग कमजोर हो जाता है और इसके साथ ही साथ अन्य कामों को करने में बहुत ज्यादा दिक्कतें आती हैं । ऐसे में टैपिओका का निरंतर सेवन आपके सिर दर्द से छुटकारा दिला सकता है। क्योंकि इसमने मैग्नीशियम , प्रोटीन और फाइबर पाया जाता है जोकि आपके सिर दर्द में काफी सहायक होता है ।

शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं की उन्नति में सहायक

हमारे शरीर में खून की कमी बहुत सी बीमारियों को उत्पन्न करती हैं ऐसे यदि आपके शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं का निर्माण सही तरीके से हो रहा है तो आपके शरीर में खून की कमी नही होती है। खून हमारे भोजन से पाचन और स्वशन क्रिया में सहायक होती है। ऐसे में खून का निर्माण होना जरूरी है । टैपिओका में आयरन , कॉपर , जिंक आदि तत्व पाए जाते हैं जोकि हीमोग्लोबिन को बढाते हैं यदि आपके शरीर में खून की कमी है या कम मात्रा में बनता है तो आपके लिए टैपिओका का सेवन निश्चित रूप से सही साबित होगा ।

कोलेस्ट्रॉल का स्तर बनाये रखता है 

कोलेस्ट्रॉल का बढ़ना भी एक बहुत ही चिंता का विषय क्योंकि बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल से हार्ट अटैक जैसी बहुत गम्भीर बीमारी हो जाती हैं । कोलेस्ट्रॉल का बढ़ना या कम होना हमारे द्वारा खाये जा रहे भोजन के पर निर्भर करता है। क्योंकि यह लिवर के द्वारा बनता है और हमारे पूरे शरीर में भेजा जाता है जिससे कि हमारा शरीर के सेल बढ़ती हैं । लेकिन एक मात्रा से ज्यादा बढ़ना यह भी नुकसान करता है इसके लिए आप टैपिओका का सेवन करके इसे कम कर सकते हैं क्योंकि इसमें कोलेस्ट्रॉल बहुत कम पाया जाता है और इमसें उपलब्ध फाइबर कोलेस्ट्रॉल को कम करने में बहुत सहायता करता है। 

विटामिन बी-12 शरीर में सहायक 

- Advertisement -

हमारा शरीर कोशिकाओं से मिलकर बना होता है और ये कोशिकायें कई सारे डीएनए से मिलकर बनते हैं। यह कोशिकाएं पूरे शरीर और मस्तिष्क के विकास में काफी सहायक होते हैं। मतलब हमारे शरीर को बढ़ने के लिए कोशिकाओं की जरुरत होती है और कोशिकाओं को बनने के लिए डीएनए की जरुरत होती है और यह डीएनए मिलता है विटामिन बी-12 की सहायता से । अतः कोशिकाओं का निर्माण सही से न होने पर ही हमारे शरीर में कई कमियां हो जाती हैं ।

टैपिओका में विटामिन बी-12 भरपूर में मात्रा पाया जाता है जिसकी सहायता से हम कई बीमारियों से बच सकते हैं। जैसे कि नजर कमज़ोर होना, हार्ट अटैक , मेमोरी यानी याददास्त का कम होना , एनीमिया का होना , नशों में ढीलापन आदि रोगों में टैपिओका बहुत ही लाभकारी औषधि के रूप में जानी जाती है।

बालों का झड़ना कम करता है 

बाल हमारे शरीर की सुंदरता को बढ़ाते हैं लेकिन आजकल के खान पान में सभी वो चीजें नही मिल पा रही हैं जो हमारे बालों को जरूरत है जिनकी वजह से हमारे बालों में बहुत से विकार हो जाते हैं जैसे बालों का पतला होना , समय से पहले पकना और काफी ज्यादा झड़ने लगते हैं । समय रहते हुए इन सभी के लिए अगर ध्यान न दिया गया तो बाद में इन्हें सुधार पाना बहुत मुश्किल काम हो जाता है। हमारे बालों को चाहिये प्रोटीन, मिनरल , आयरन , विटामिन डी , मैग्नीशिय , आदि जोकि टैपिओका कसावा में भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं । यदि आप बालों की समस्या को लेकर टैपिओका का सेवन नियमित रूप से किया जाए तो कुछ समय बाद इन अपने बालों को हष्टपुष्ट देख सकेंगे ।

कार्बोहाइड्रेट शरीर में है जरूरी 

जब कभी हमारे शरीर में कार्बोहाइड्रेट की कमी होती है तो ज्यादातर डॉक्टर हमे सलाह देते हैं कि आलू और चावल ज्यादा खाये जिससे आपके शरीर में कार्बोहाइड्रेट की बनेगा जोकि अन्य शरीर के भागों को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करेगा । लेकिन हम खाने के साथ कार्बोहाइड्रेट सिर्फ एक निश्चित मात्रा में ही ले सकते हैं । लेकिन अगर आपको जरूरत है तो आप टैपिओका का सेवन भी आसानी से कर सकते हैं इसमें कार्बोहाइड्रेट काफी मात्रा में पाया जाता है । जोकि बहुत से रोगों से लड़ने के लिए कारगर है। यह शरीर में पहले से बने हुयी बीमारियों से लड़ने में सहायक होता है।

त्वचा की प्राकृतिक सुंदरता में सहायक 

हर एक व्यक्ति सुदर दिखना चाहता है जिसके लिए वह बाजार में बिक रहे कि सारे ब्यूटी प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करते हैं । लेकिन यह सब इस्तेमाल करने पर कुछ समय के लिये तो आपको अपनी त्वचा पर असर दिखाई देता है लेकिन इसके साथ ही साथ इसके बहुत सारे साइड इफ़ेक्ट होते जोकि कुछ समय बाद हमारे स्किन को बहुत ज्याफ नुकसान पहुंचाते हैं । यदि आपको एक प्राकृतिक निखार अपनी त्वचा पर लाना है तो आप टैपिओका का सेवन कर सकते हैं जोकि बहुत ही लाभकारी है क्योंकि इसमें कई ऐसे तत्व जैसे आयरन , विटामिन , फॉस्फोरस ,एंटीऑक्सीडेंट और मिनरल्स पाए जाते हैं जोकि स्किन को निखारने में बहुत हेल्प करते हैं।

पाचन तंत्र में है लाभदायक 

टैपिओका में फाइबर और कार्बोहाइड्रेट अधिक मात्रा में पाया जाता है । जैसा कि हम जानते हैं पाचन को बनाये रखने के लिए हमारे शरीर में फाइबर की मात्रा बनी रहनी चाहिए। इसके इस्तेमाल से आप अपने पाचन को सुदृढ़ बनाये रख सकते हैं। 


Memes meaning in hindi | Meme बनाये आसानी से

टैपिओका से होने वाले कुछ अन्य लाभ 

  • टैपिओका में कई विटामिन के साथ विटामिन ए भी भरपूर मात्रा में पाया जाता है जोकि हमारी आंखों को स्वस्थ बनाए रखने के लिए बहुत ही कारगर है।
  • टैपिओका कसावा कैलोरी का भी एक अच्छा स्रोत है इसका उपयोग थकान और भूख लगने पर भी किया जा सकता है। 
  • यदि शरीर में कैल्शियम की कमी हो रही है तो आप टैपिओका का सेवन करके कैल्सियम की कमी को दूर कर सकते हैं।
  • टैपिओका दस्त जैसी काफी परेसान कर देनी वाली बीमारियों में काफी सहायक होता है।
  • इसमें सोडियम की मात्रा कम होने की वजह से इसका सेवन दिल के मरीज भी कर सकते हैं। 
  • इसमें पोटैशियम अच्छी मात्रा में पाया जाता है जोकि हाई ब्लड प्रेशर या फिर लो ब्लड प्रेशर में काम आता है।

टैपिओका का उपयोग (Use of tapioca in hindi)

टैपिओका इतना ज्यादा फायदेमंद होने के बावजूद भी भारत के कुछ ही राज्यों में इसका प्रयोग अच्छी तरीके से किया जाता है जैसे की भारत दक्षिणी राज्य केरल, तमिलनाडु ,आन्ध्र प्रदेश आदि । जबकि उत्तरी राज्यों में इसकव बहुत ही कम लोग जानते हैं जिससे कि इसके लाभो को लेने से वंचित रह जाते हैं लेकिन हमने इस लेख में टैपिओका के सभी फायदे के बारे में बताया अब बताने जा रहे हैं इसके उपयोग –

  • टैपिओका का उपयोग सॉस और सूप बनाकर भी लोग करते हैं क्योंकि यह एक प्रकार की खाद्य सामग्री है। 
  • इसका उपयोग सब्जी बनाने में भी किया जाता है ।लोग इसकी सब्जी बनाकर कहते हैं और इसमें उपलब्ध गुणों का लाभ लेते हैं।
  • केक बनाने में भी इसका प्रयोग किया जा सकता है क्योंकि कई सारे गुणों का समावेश होता है।
  • टैपिओका कसावा का ज्यादातर उपयोग पुडिंग ,कैंडीज और बोबा चाय को और भी स्वादिस्ट बनाने के लिए किया जाता है।
  • टैपिओका का उपयोग जैसे बहुत सी खाद्य सामग्री मेंकिया जाता है तो इसे स्नैक फ़ूड बनाने में भी किया जा सकता है।
  • कसावा की जड़ें काफी मीठी होती हैं तो इन्हें उबालकर एक प्रकार की मिठाई बनाकर उपयोग में लाया जा सकता है।
  • टैपिओका को सबसे ज्यादा साबूदाना के निर्माण में किया जाता है। 

टैपिओका से होने वाले नुकसान ( side effects of tapioca )

- Advertisement -

हर चीज के फायदे होते हैं उसके नुकसान भी थोड़े बहुत देखे जा सकते हैं । इसीलिए आपको टैपिओका से होने वाले नुकसान के बारे में भी जानना चाहिए –

  • महिलाओं में जब गर्भधारण हो तब इसका सेवन नही करना चाहिए क्योंकि इसमें कई चीजें ऐसी होती जो अनावश्यक बढ़ सकती हैं।
  • यदि आपको किसी भी प्रकार की गंभीर बीमारी है तो आप इसका सेवन डॉक्टर की सलाह से ही ले क्योंकि यह नुकसानदायक हो सकता है।
  • जिस भी व्यक्ति का वजन ज्यादा है उसे इसका सेवन सीमित मात्रा में करना चाहिए क्योंकि इसमे कार्बोहाइड्रेट ज्यादा होता है जोकि वजन बढ़ाने में कामगर होता है।
  • टैपिओका का उपयोग कच्ची जड़ों के रूप में नही करना चाहिए क्योंकि इनमें कई हानिकारक तत्त्व भी पाए जाते हैं जिन्हें उबालकर खत्म किया जाता है।
  • टैपिओका का उपयोग कब्ज से ग्रषित व्यक्ति को नही करना चाहिए ।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल :-

What is cassava called in india in hindi ?

Cassava को भारत में हिंदी भाषा में साबूदाना का पेड़ कहा जाता है तथा भारत कई अन्य अन्य जगहों पर इसे दूसरे दूसरे नाम से जाना जाता है?

Tapioca starch in hindi क्या है ?

टैपिओका एक प्रकार की जड़ होती है जोकि कसावा नामक पेड़ में पाई जाती है इस पेड़ की जड़ में जोभी गूदा होता है उसे ही स्टार्च कहा जाता है ।

Tapioca vegetable meaning in hindi ?

Cassava पेड़ की जड़ को सब्जी की तरह बनाकर उपयोग में लाया जाता है और भी कई खाद्य सामग्री बनाई जाती हैं । इस बनी हुई सब्जी को ही tapioca Vegetable कहा जाता है ।

Tapioca pearl’s in hindi क्या है ?

टैपिओका पर्ल्स को हिंदी में साबूदाना कहा जाता है जोकि भारत के साथ कई अन्य देशों में भी प्रचलित है । Tapioca pearls से पानी या फिर दूध की खीर बनाकर खाई जाती है।

एक नजर इधर भी-

दोस्तों हमने इस पोस्ट में आपको टैपिओका मीनिंग इन हिंदी में बताने कोशिस की और इससे जुड़े सभी फायदे और नुकसान बताए हैं यदि आपको अभी भी किसी प्रकार का संदेह है इस लेख को लेकर तो आप हमें कमेंट करके जरूर बताएं हम पूरी मदद करेंगे । हमारे इस लेख को ज्यादा से ज्यादा शेयर करे ताकि और भी लोगों की मदद हो सके । 

- Advertisement -
Pankaj Yadavhttp://hinditarget.com
नमस्कार दोस्तों  ! मै Pankaj Yadav , HindiTarget.com का Owner | मै एक Web Developer हूँ | मै इस ब्लॉग के माध्यम से नयी नयी जानकारियां लाता रहता हूँ। कृपया आप हमे SUPPORT करे ताकि हम आपसे इसी तरह जुड़े रहें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

हमसे जुड़े

506FansLike
300FollowersFollow
201FollowersFollow

नये लेख

सम्बन्धित लेख