स्टार्ट अप इंडिया स्टैंड अप इंडिया( Start Up Stand up in hindi)

- Advertisement -

स्टार्ट अप इंडिया स्टैंड अप इंडिया( Stand up India Scheme up India in hindi)-

दोस्तों आज हम आप सभी को यह ऐसे खबर के बारे में बताएंगे जो हमारे दैनिक कार्यों के लिए बहुत ही उपयोगी है।जिनमे लड़के तथा लड़कियों की मदद की जाएगी जो आर्थिक तंगी की वजह से कुछ नही कर पटें हैं।आने वाली 26 जनवरी को 2016 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी नई योजना का शुभारंभ किया था।और जिसके बारे में उन्होंने 2015 के लाल किले के भाषण पर विस्तार से अपने बातें बताई थी और वह योजना आज Standup India start up India  के नाम से जानी जाती है। 

स्टार्ट अप इंडिया स्टैंड आप इंडिया का उद्देश्य (Start Up Stand up in hindi)-

आप सभी लोगों को पता है कि यह एक ऐसी योजना है जिसके माध्यम हम अगर कोई भी छोटा या बड़ा काम करेंगे तो उसमें सरकार की अनुमति की आवश्कयता होगी और इसमें लोन सुविधा,उचित मार्गदर्शन और अनुकूल वातावरण की भी सुविधा दी जाएगी। बैंक से लोन ले कर लड़के या लड़कियां आप व्यासाय शुरू कर सकते हैं और इन सभी सुविधाओं के साथ-साथ जरूरी स्किल और डेवलेप्मेंट ट्रेनिंग भी दी जाएगी।

स्टार्ट अप इंडिया स्टैंड उप इंडिया का मुख्य उद्देश्य यही है किसी भी कार्यों को शीतलता पूर्वक बढ़ावा देना है।जिससे देश मे रोजगार के अवसर बढे और बेरोजगारी की समस्या खत्म हो और इस योजना सही पूर्वक या सुचार रूप से चलाने के लिए यह कार्य Department of Industrial Policy and Promotion (DIPP) को सौप गया है।जब यह योजना लागू करने सभी ने विचार मनाया तो पहले तो DIPP ने इसका विस्तार से अध्ययन किया और फिर कई स्टाक होल्डर जो थे उनसे बात करने के बाद इसका एक पूरा विवरण तैयार किया ।

और जल्दी ही मोदी जी ने अपने रेडियो टॉक शो में मन की  बात में स्टार्ट अप इंडिया स्टैंड अप के बारे में बताया तथा इससे जुड़े रहने के लिए निवेदन भी किया।

स्टार्ट अप इंडिया स्टैंड अप इंडिया का बजट-

स्टार्ट अप इंडिया स्टैंड अप इंडिया का बजट सरकार द्वारा लागू किया गया है और इस योजना को पूरे भारत मे लागू करने के लिए सरकार ने 2500 करोड़ का शुरुआती बजट लागू किया है और बताया है कि अगले 4 साल के दौरान ही कुल 10,000 रुपये का बजट निर्धारित किया जाएगा।

स्टार्ट अप इंडिया स्टैंड अप इंडिया 2021 के कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेज –

स्टार्ट अप इंडिया स्टैंड अप इंडिया के कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेज हैं जो व्यक्ति के पास होना अब बहुत ही आवश्यक है।जैसे-

  • आधार कार्ड 
  • मूलनिवास पहचान पत्र
  • पैन कार्ड 
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • व्यावसाय की जानकारी तथा सबूत
  • परियोजना रिपोर्ट
  • बैंक खाता व डिटेल
  • यदि किराये पर व्यवसाय हो तो रेंट अग्रीमेंट 
  • अनुसूचित जाति ,अनुसूचित जनजाति वर्ग से सम्बंधित प्रमाण पत्र
  • और प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से क्लीयरेंस प्रमाण पत्र।

>ब्लैक लाइव्स मैटर क्या है ?

स्टार्ट अप इंडिया स्टैंड अप इंडिया 2021 की योजना की रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया-

इस योजना के रजिस्ट्रेशन के लिए अब ऑनलाइन प्रक्रिया शुरू की गई है। अगर व्यक्ति ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाता है तो उसे सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होता है।

स्टार्ट अप इंडिया स्टैंड अप इंडिया के अंर्तगत अगर  आवेदन फार्म की मांग की गई तो  सारी जानकारी से भरा एप्लिकेशन फार्म को ऑनलाइन ही समिट करना होता है।

स्टार्ट अप इंडिया स्टैंड अप इंडिया 2021 की योजना के तहत  आवेदन की पात्रता-

  • अगर कोई भी व्यक्ति अपने नए विचारों ,विकास,उत्पाद, प्रक्रियाओ के सुधार से कोई भी व्यापार शुरू करना चाहता है। तो वह भी इस आवेदन योजना करने के योग है।परन्तु जो भी व्यक्ति व्यापार शुरू करना उसको व्यापार के विचार की चाह होनी चाहिए।
  • इस योजना में एक बात का और भी ध्यान रखना चाहिए की अगर कोई व्यक्ति के पास पहले से ही कोई व्यवसाय है और वह फिर से कोई व्यवसाय करना चाहता है तो उसको इस बात का बेहद ध्यान रखना चाहिए कि व्यवसाय करते हुए सात वर्ष से ज्यादा न हो।
  • और जो भी व्यक्ति लिमिटेड कम्पनी में भागेदारी लेना चाहता है वह भी इस योजना में शामिल हो सकता है।
  • अगर कोई भी व्यक्ति कारोबार कर रहा है और उस कारोबार का टर्न ओबर चाहे जो वर्ष में 25 करोड़ से नही होनी चाहिए ।अगर इससे ज्यादा हुई तो उसे व्यापार करने की अनुमति नही दी जाती है।
  • और इस योजना में व्यवसाय करने के लिए व्यक्ति की आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए।

स्टार्ट अप इंडिया स्टैंड अप इंडिया योजना 2021 के लाभ-

- Advertisement -

स्टार्ट अप इंडिया स्टैंड अप इंडिया के आज हम आप सभी को लाभ बताएंग, कि इस योजना से हमें क्या लाभ है तो चलिये जानते हैं-

  • इस योजना के अंतर्गत बेरोजगार महिलाओं को अनुकूल वातावरण से बिजनेस शुरू करने के लिए उन्हें प्रोत्साहन दिया जाएगा।
  • इस योजना के अंतर्गत जो नोजवान होते हैं उनको अपने व्यवसाय शुरू करने के लिए उनको आर्थिक व्यवस्था प्रदान की जाती है।
  • जानते हो इस योजना में कोई भी छोटा या बड़ा उधोग हो उसको बढ़ाने के लिए उसकी फंडिंग दी जाती है।
  • इस योजना में व्यसाय द्वारा जो कमाई गई धन राशि होती है व्यसाय शुरू होने तक पहले 3 तीन साल तक कोई भी इनकम टैक्स नही लगेगा।
  • इस योजना से उन व्यक्ति की ज्यादातर सरकार द्वारा मदद की जाएगी जो पिछड़े वर्ग के लोग हैं।उनको आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • स्टार्ट अप इंडिया स्टैंड अप इंडिया की योजना के तहत देश ने तकनीक पर आधारित जो नई उधोग है उनको शुरू करने के लिए एक उदार पेमेंट व्यवस्था भी लाई जाएगी और इसके तहत इस मुद्दे में प पंचीकरण जो शुल्क होगा उसमे 80%की छूट दी जाएगी।
  • और पता है ,कि इस योजना के अंर्तगत अनुसूचित जाति और जनजाति कम से कम एक महिला को कारोबार शुरू करने के लिए बैंक से 10लाख से लेकर 1करोड़ तक लोन देने की सुविधा प्रदान की जाएगी।
  • और इस योजना में छात्रों के लिए इन्वोशन का कोर्स भी शुरू किया जाएगा। और 5 लाख  विद्यालयों में 10 लाख बच्चों पर फोकस करके उन्हें भविष्य में प्शिक्षित किया जाएगा।
  • स्टार्ट अप इंडिया स्टैंड अप इंडिया में परिणामस्वरूप अनुपालन व्यवस्था भी की जाएगी। इस व्यवस्था में कर्मचारियों के भविष्य निधि, पानी वायु औए प्रदूषण कानूनों के मामले में उपलब्ध कराई जाएगी।
  • और इसके अंतर्गत अगर कोई ठेके खरीदता है तो उसको भी कई प्रकार की छूट दी जाएगी।
  • प्रधानमंत्री द्वारा दिलावा कानून में स्टार्ट अप उद्यमों के अपना कारोबार बंद करने के लिए सरल निर्गम देने का विकल्पं देने का प्रावधान भी किया जाएगा ।
  • इस योजना में उचित बाजार मूल्य पर पर भी छूट दी जाती है।

स्टार्ट अप इंडिया स्टैंड अप इंडिया योजना में लोन की सुविधा-

इस योजना में सभी व्यक्ति को लागत का 75%तक लोन लेनी की अनुमति होती है और भी इस योजन में के तहत जो आवेदक होते हैं उनको 75%तक लोन लेने के लिए विभाग से सम्पर्क कर सकता है।

लोन का भुगतान –

इस योजना में व्यक्ति को 18 महीने का लोन लेने की अवधि की वापसी 7 वर्षों के अंदर ही अंदर होना अनिवार्य होगा ।

व्याज दर-

इस योजना का एक ओर नियम है ,कि निर्धारित श्रेणी के लिए बैंक द्वारा प्रयोजित न्यूनतम ब्याज दर 3%से अधिक नही होगी।

सरकार द्वारा बनाया गया प्रारूप-

रोजगार के अवसर-

स्टार्ट अप इंडिया स्टैंड अप इंडिया में 2015 के रिपोर्ट के अनुसार स्टार्ट अप के जरिये 2014 से 20 तक 65,000 नई नोकरियाँ लायी जा रही हैं और यह उमीद की जा रही है की इसका अकड़ा बढ़कर 2,50,000 तक पहुँचेगा।

योजना का मुख्य उद्देश्य-

प्रधानमंत्री मोदी ने उचित समय मे देश के युवाओं के लिए नवीनतम और रचनात्मक कार्यों के लिए उचित ढाचा तैयार किया है और उनका कहना है इस स्टार्ट अप इंडिया की योजना का सबसे अधिक फायदा छोटे शहरों और गांव के लोगों को होना चाहिए।

सरकार का अन्य योगदान- 

इस योजना में सरकार क्षमता के आधार पर प्रस्तावों को मल्यांक करने के लिए DIPP मिलकर कार्य करेंगे ।इसके अंतर्गत जैव प्रधोगिकी ,विज्ञान प्रोधोगिकी के विभिन्न प्रतिनिधि शामिल होंगे।

योजना में आने वाली सम्भावित समस्याएं-

  • स्टार्ट अप के लिए सबसे ज्यादा प्रतिभा छोटे शहर आया गांव के में मिलती है फिलहाल सफलता पूर्वक उनको जोड़ना एक बहुत ही बड़ा चैलेंज है क्योंकि यहां के लोगों ने ही कम्प्यूटर चलना नही आता है वे लोग टेक्नोलॉजी में पीछे होते हैं जो कि बहुत बड़ी समस्या है।
  • स्टार्ट अप इंडिया स्टैंड अप इंडिया  को सफल बनाने के लिए सरकार कुछ लोगों ट्रैनिंग प्रोग्राम शुरू करना चाहिए और लोगों को सफलता पूर्वक शिक्षित करें।
  • स्टार्ट अप इंडिया स्टैंड अप इंडिया को सफल बनाना एक बहुत बड़ी कोशिश है।जिसके  जरिये रोजगार के अवसर बढ़ेंगे तभी तो देश आगे की ओर बढेगा। इसलिए इस सफलता से गांव और छोटे शहरों से जुड़ना बहुत ही जरूरी है। क्योंकि देश की सबसे ज्यादा जनसंख्या वही और इन्ही स्तनों पर रोजगार ज्यादा जरूरी है।
  • जानते हो सरकारी निवेशकों की कमी भी एक बहुत बड़ी बाधा है।स्टार्ट अप में लिए जाने वाले पेपर वर्ग में लोगो को ज्यादा अनुभव होगा उसी लिए इनको उचित संरक्षण देने जरूरी है।
  • आप को पता है कि स्टार्ट अप मार्केट कंडीशन और एंट्री टामिंग के कारण असफल हो जाते हैं और इसकी कारण असफलता के कारण ज्यादातर दिखाई देते हैं।असफलता निराश न होकर युवाओं को आगे बढ़ते रहने के लिए सरकार को उनका हौसला बनाये रखना चाहिए और उनको उचित मार्ग दर्शन भी देना चाहिए।
  • स्टार्ट अप इंडिया की योजना 30 जुलाई को लांच की जाएगी और इसका पहला शिविर रायपुर में आयोजित किया गया है।इसके अलावा सरकारी इंजीनियरिंग कालेज और पॉलिटेक्निक कालजे भी उपलब्ध कराए जाएंगे।
  • और सरकार का कहना है कि राजनंद गांव,दतेवाड़ा,कांकेर,बलौदाबाजार, धमरती,कोरबा,रायगढ़,जयपुर आदि राज्यो में स्टार्ट अप में आने वाले दिनों में यात्राएं करंगे।
  • स्टार्ट अप में जो फंडिंग उस कार्य के जोखिम उसे निभाने वाली योग्यता के मापदंड पर निर्भर करता है और स्टार्ट अप की सबसे बड़ी समस्या धन है जिसके बिना स्टार्टअप सम्भव नही है |

- Advertisement -
Pankaj Yadavhttp://hinditarget.com
नमस्कार दोस्तों  ! मै Pankaj Yadav , HindiTarget.com का Owner | मै एक Web Developer हूँ | मै इस ब्लॉग के माध्यम से नयी नयी जानकारियां लाता रहता हूँ। कृपया आप हमे SUPPORT करे ताकि हम आपसे इसी तरह जुड़े रहें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

हमसे जुड़े

506FansLike
300FollowersFollow
201FollowersFollow

नये लेख

सम्बन्धित लेख