कलौंजी खाने के क्या-क्या फायदे होते हैं ?

- Advertisement -

Table of Contents

कलौंजी क्या है?(What is kalaunji in hindi)-

आप लोग तो कलौंजी के बारे में जानते ही हैं जिसे हम अपने खाने की चीजों मसालों के रूप में मिलाते हैं कलौंजी एक स्वादिष्ट बीज हैं।कलौंजी का पौधा लगभग 12 इंच लंबा होता है। कलौंजी के पौधे मुख्य रूप से दक्षिणी-पश्चिमी एशिया(South-west Asia) में पाया जाता है।कलौंजी का सेवन अधिकतर पाकिस्तान,बांग्लादेश और इंडिया में किया जाता है। कही-कही कलौंजी को काले बीज के नाम से जाना जाता है।कलौंजी एक बहुत अच्छी औषधि भी है इसका उपयोग 2000 वर्षों से दवाइयां बनाने में किया जा रहा है।

कलौंजी का पौधा कैसा होता है-

kalaunji

क्या आप ने कभी कलौंजी का पौधा देखा है नहीं देखा तो हम आपको नहीं देखा तो बता दे कि यह सौंप के पौधे जैसा होता है और इसके फूल नीले रंग के होते हैं तथा ये बहुत ही खुशबूदार होते हैं इसके बीज काले होते हैं।

कलौंजी खाने के सही तरीके-

आपको पता ही है कि ज्यादातर लोग कलौंजी का सेवन मसालों के रूप में करते हैं लेकिन हम आपको बता दें कि कलौंजी कैसे खाई जाती है और यह कि प्रकार से हमारे लिए लाभदायक है।

  • पहला तरीका -कलौंजी पाउडर और शहद को एक गिलास गुनगुने पानी में नींबू डालकर उसको पीना चाहिए।
  • दूसरा तरीका यह है- कलौंजी का बीज ले और उसमें नींबू का रस मिलाकर उसका सेवन करना चाहिए।

कलौंजी में पाए जाने वाले पोषक तत्व

कलौंजी हमे हर बीमारियों से बचाता है क्योंकि इसमें ऊर्जा,प्रोटीन,कार्बोहाइड्रेट,आयरन आदि पोषक तत्व पाए जाते हैं।जो हमारे शरीर को सभी बीमारियों से लड़ने की शक्ति देता हैं।

कलौंजी की तासीर क्या होती है?-

आप सभी लोग जानते हैं क्या की कलौंजी की तासीर गर्म होती है इसी लिए कलौंजी का सेवन सभी लोगों को सिर्फ सर्दियों के मौसम में ही करना चाहिए।कलौंजी पेट दर्द के लिए बहुत ही फायदेमंद होती है।

कलौंजी की खेती कैसे की जाती हैं-

आज हम किसान भाइयों को बताएंगे कि कलौंजी की खेती कैसे होती है। इसकी खेती के लिए सबसे पहले तो हमें समतल खेत और कम चौड़ाई वाली क्यारियां बनवानी चाहिए।

कलौंजी की बोवाई छिड़काव करके की जाती है कलौंजी के खेत कार्बनिक प्रधानता युक्ति काली मिट्टी या फिर दोमट मिट्टी ही वाले होने चाहिए।कलौंजी खेतों में जल का भराव नहीं होना चाहिए। कलौंजी के बीजों का छिड़काव एक बीघा में दो से तीन किलो का करना चाहिए। यह 15 से 25 दिन में उग आती है और जब इसके बीज चमकदार और काले रंग के हो जाये तो इसे काट लेना चाहिए।

कलौंजी खाने के क्या-क्या फायदे होते हैं -(Kalonji Benefits and side Effects in hindi)-

kalaunji
kalaunji

कलौंजी का उपयोग सिर्फ मसालों के रूप नहीं बल्कि इसका प्रयोग और बहुत से गुणों से हमारे लिए फायदेमंद होती है जैसे –

कोलेस्ट्रॉल कम करने में

कलौंजी एक ऐसा पौष्टिक तत्व है जो हमारे बढ़ते हुए कोलेस्ट्रॉल को कम करता है।अगर कोलेस्ट्रॉल के मरीजों को लगातार कलौंजी का दो से तीन महीने तक खाने से कोलेस्ट्रॉल वाले मरीजों को फायदा होता है।

अस्थमा और ख़ासी में

- Advertisement -

अगर आपको को अस्थमा और खासी की बीमारी हो तो हम आपको बताते हैं कि कलौंजी का दो महीने तक सेवन करने से हम इससे छुटकारा पा सकते हैं।इसलिए इन मरीजों को कलौंजी का सेवन जरूर करना चाहिए।

ह्रदय वाले मरीज के लिए

क्या आप लोगों को यह सुन कर हैरानी होगी कि कलौंजी में ह्रदय वाले मरीजों के लिए भी बहुत लाभदायक होती है।सभी आयुर्वेदिको के डॉक्टरों का यही कहना है कि अगर हम कलौंजी का सेवन बकरी या गाय के दूध के साथ करें तो हमें इस बीमारी में बहुत फायदा होता है।

कलौंजी का सेवन सभी व्यक्तियों को शहद में मिलाकर करना चाहिए।इसके सेवन से हमारी  स्मरण शक्ति बढ़ती है और हम चाहे जो भी काम करें उसमें हमारे काम में फोकस रहता है।और इसका सेवन ज्यादातर बुजुर्गों को करवाना चाहिए। 

ब्लड प्रेशर में –

ब्लड प्रेशर और किडनी के मरीजों को अगर आप कलौंजी के तेल के साथ शहद और गर्म पानी पीने की सलाह देते हैं तो इन मरीजों इससे अच्छा लाभ होता है।इसी लिए ब्लड प्रेशर के मरीज को गर्म पानी की सलाह जरूर दें।

डायबिटीज में –

अगर आपको डायबिटीज तो क्या आप जानते हैं कि इसमें भी कलौंजी बेहद उपयोगी है।डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए कलौंजी के तेल का प्रयोग ब्लैक टी में करने से इसमें फायदा मिलता है।

वजन कम करने में

जिन लोगों का वजन ज्यादा है और वे अपने वजन से परेशान है तो उसको कलौंजी का सेवन करना चाहिए क्योंकि कलौंजी में एंटी ओबेसिटी वाले गुण होते है अगर आप कलौंजी के तेल का प्रयोग करते हैं तो उनको अपना वजन घटाने में आसानी होगी ।

दाँतो के लिए-

अगर आपको दांतों के मसूड़ो में सूजन हो तो इसके लियव भी kalonji के तेल को लेकर अपने मसूड़ो को हल्के हाथों से मलिश करने से बेहद फायदा होता और इससे हमारे दांत भी मजबूत होते हैं।

उल्टी में –

अक्सर आपने देखा होगा कि बहुत से लोगों को उल्टी की समस्या होती ही रहती है। इसलिए हम आपको बताते हैं कि उल्टी की समस्या के लिए Kalonji का उपयोग करना सबसे बेहतर होता है।

कैंसर में –

आप लोग तो जानते ही है कि कैंसर की बीमारी आम हो गई।आपने किसी ना तो किसी को कैंसर जैसी बड़ी बीमारी को झेलते हुए देखा होगा।तो इस बीमारी के लिए डॉक्टर की सलाह से कलौंजी का उपयोग करना चाहिए ।माना कि वह कैंसर जैसी बीमारी को जड़ से नहीं खत्म कर सकती है लेकिन इसमें एंटी ऑक्सीडेंट होने के कारण यह ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस तथा फ्री रेडिकल्स की होने वाली समस्या को कम तो कर सकता है।

आँखों की रोशनी के लिए

क्या आप लोग यह भी जानते हैं क्या की kalonji का सेवन करने से हमारे आँखों की रोशनी भी बढ़ती हैऔर अगर आपकी आँखों से आँसू या फिर आपकी आँखे बार -बार लाल हो जाती हैं तो कलौंजी का सेवन करना चाहिए ।या फिर मोतियाबिंद हो तभी कलौंजी का उपयोग करना चाहिए।

कलौंजी और मेथी खाने के क्या फ़ायदे हैं –

आप सभी लोगों को पता है क्या की जिस प्रकार कलौंजी हमारे बहुत काम आती है उसी प्रकार अगर हम मेथी और कलौंजी का प्रयोग साथ में करें तो हमारे लिए बहुत फायदेमंद हैं।

बालों के लिए kalonji के फायदे-

आप जानते ही हैं कि आज के समय में बच्चों से लेकर सभी के बाल सफेद होने लगे हैं और इस समस्या से लोग बहुत परेशान हैं।अब तो इस से छुटकारा पाने के लिए सभी बाजारों में उपलब्ध केमिकल वाली डाई का उपयोग करते हैं जिससे की जो बचे हुए बार वो भी सफेद हो रहें हैं।और अपने इन सफेद हुए बालों से परेशान लोग कहीं भी जाने में हिचकिचाते हैं। इसीलिए आज हम आपके बालों को काला करने के लिए Home Remedy के बारे में बताएगें जिससे की आपके बाल बेहतर तरीके से काले हो जायेंगे।अगर आपको अपने बालों को काला करना हो तो आप अपने बालों में मेथी कलौंजी और नारियल का तेल का मिश्रण लगाने से आपके बाल काले तो होंगे ही साथ में मजबूत भी होंगे ।

- Advertisement -

कलौंजी और मेथी के मिश्रण -आपको सबसे पहले लेना है एक चम्मच कलौंजी और फिर एक चम्मच मेथी को एक बाउल में डाले ।फिर इसके बाद अपनी आवश्यकतानुसार नारियल का तेल लेकर एक बाउल के डाले। और फिर इसे आंच पर गर्म किया जाता है।जब अच्छी तरह से तेल गर्म हो जाये तो उसमें कलौंजी और मेथी के मिश्रण डाल दें। मिश्रण डालने के बाद उसे धीमी -धीमी आंच पर गर्म करते हुए उसे चलाते रहना चाहिए।और उसे आंच पर 10 मिनट तक गर्म करने से उनके सभी पोषक तक मिल जाते हैं। और इसमें दो चम्मच आंवला पाउडर मिलने से बाल मुलायम और चमकदार होते हैं।

कलौंजी और काले जीरे में अंतर-

कलौंजी को काला जीरा और ब्लैक सीड के नाम से भी जाना जाता है। आप जानते हैं कि इसका प्रयोग सर्दियों में धरेलू औषधियों  में किया जाता है।अपनी त्वचा पर कलौंजी और काले जीरे का तेल लगाने से बहुत भी बहुत फायदा होता है।

कलौंजी और काले जीरे का इस्तेमाल-

कलौंजी या काला जीरा एक ऐसी औषधि है।जो पाचन (digestive)और साँस (respirasitic) सम्बन्धी बीमारियों में इसका उपयोग किया जाता है।कलौंजी हमारे (immune system) को मजबूत बनाता है।इसके अलावा कलौंजी में (antibacterial,anti-inflammatory,anti-fungl और antiparasitic के गुण भी पाए जाते हैं। कलौंजी को गर्म करके उसको पीसकर दही शहद या अन्य खाद्य पदार्थों में मिला कर इसको खा सकते हैं। काले जीरे का तेल भी हमारे लिए बहुत फायदेमंद होता है। कलौंजी और काले जीरे के उपयोग के और भी तरीके हैं-

दही या kefir में कलौंजी के तेल का उपयोग-

आपको अगर पेट और आंत से संबंधित कोई बीमारी हो तो इसके इलाज के लिए कलौंजी का तेल प्रयोग में लाना चाहिए और हम आपको बता दें कि अगर आप गैस्ट्रोइंटेस्टिनल,दस्त या अन्य कई बीमारियों से परेशान हैं तो एक कफ योगर्ट और Kefir में सादे दही में एक छोटा चम्मच कलौंजी का तेल मिलाकर उसे हर रोज दिन में दो बार खाने से आपको बेहद फायदा होगा ।

कलौंजी के तेल से त्वचा के मालिश के –

आप जानते हैं कि कलौंजी या ब्लैक सीड ऑयल हमारे लिए बहुत फायदेमंद  होता है अगर आपके चेहरे पर मुंहासे या अन्य त्वचा सम्बंधित कोई रोग होता है ब्लैक सीड का इस्तेमाल करना चाहिए क्योंकि इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं और इसके अलावा इसमें पोषक तत्व और विटामिन भी मौजूद होती हैं जिससे कि ये हमारे रोगों को ठीक करने में हमारी मदद करता है। ये ज्यादा उम्र वाले व्यक्तियों के लिए भी फायदेमंद होती है लेकिन इसका मसाज रोज करना पड़ेगा ।

कान दर्द के लिए कलौंजी का प्रयोग-

अगर आप के कानों में दर्द है तो आपको कलौंजी का प्रयोग करना चाहिए क्योंकि कलौंजी इसका सबसे अच्छा स्रोत है।इसमें आपको एक छोटा चम्मच रोस्टेड और कुटी हुई कलौंजी लेकर इसमें ऑलिव  ऑयल की कुछ बूंदों को इसमें डाले और फिर इसे अच्छी तरह से मिला लें।और फिर इसकी कम से कम सात बूंदों को सुबह शाम अपने कानों में डालना चाहिए।

कलौंजी का Hindi नाम –

कलौंजी को हिंदी में मंगरैला (Mangraila) के नाम से जाना जाता है।इसका English नाम स्माल फनेल,(Nigella seeds) है। कलौंजी को संस्कृत में कालाजाजी या कल वंचिका कहते हैं।

कलौंजी को कितने नामों से जाना जाता है-

कलौंजी को अलग-अलग स्थानों पर अलग -अलग नामों से जाना जाता है । आप सभी को पता है क्या की कलौंजी का दूसरा नाम आशीष के बीज के नाम से भी जाना जाता है और इसको काला जीरा और काला बीज के नामों से भी कहा जाता है। kalonji को सतीत्व भी  कहते हैं।

kalonji को बिहार और मराठी में क्या कहते हैं-

- Advertisement -

आप जानते हैं क्या की कलौंजी को बिहार में कलौंजी ही कहते हैं और मराठी में कल्ला कल्ला कहते हैं।और गुजरात में भी kalonji कहते हैं तथा बंगाली में इसे मरेला कहते हैं।

कलौंजी और शहद के फायदे-

  • अगर आप के पेट में कीड़े हो और आप इससे बहुत परेशान हो और इससे छुटकारा पाना चाहते हैं तो 10 ग्राम कलौंजी के बीज लें और इसमें तीन चम्मच शहद मिलाकर रोज रात को सोते समय खाने से हमारे पेट के कीड़े नष्ट हो जाते हैं।
  • कई लोगों की आंखों में मोतियाबिंद या आंखे लाल हो जाती हैं और कुछ लोगों की आंखों से पानी निकलता रहता है इसके अलावा आधा चम्मच कलौंजी का तेल और एक कप गाजर का रस और इसमें दो चम्मच शहद मिलाकर दिन में दो बार सेवन करने से आपकी आंखों के सभी रोग ठीक हो जायेंगे।
  • जब आपको मलेरिया का बुखार हो तो इसके लिए पिसी हुई आधा चम्मच कलौंजी और उसमें शहद मिलाकर खाने से मलेरिया का बुखार ठीक होता हैं।
  • आप लोग तो जानते हैं कि आज पथरी तो आम बात हो गई जिस किसी को देखो उसके पथरी हो जाती हैं।दर्द होने पर लोग बहुत परेशान हो जाते हैं तो इसके लिए आप 250 ग्राम Kalonji के बीजों को पीसकर 125 ग्राम शहद के साथ एक कप पानी और आधा चम्मच कलौंजी का तेल मिला लें फिर इसे हर रोज दिन में दो बार खाली पेट सेवन करने चाहिए इसी तरह आप इसका सेवन 21दिन तक इसको पीने से यह खिसककर निकल जाती हैं।

कलौंजी और दूध के फायदे-

अगर किसी को लकवा की बीमारी हो तो आपको बता दें कि कलौंजी का उपयोग करना चाहिए ।कलौंजी के ऑयल को एक गिलास दूध में एक चम्मच मिलाकर एक महीने तक रोज पीने से लकवा ठीक हो जाता है तथा कलौंजी के तेल के मालिश भी बहुत फायदेमंद होता है।

कलौंजी को दूध में उबालकर पीने में भी बेहद फायदा होता है।

कलौंजी का पानी पीने के फायदे-    

  • अगर आपको मानसिक तनाव दूर करना है तो एक गिलास गर्म पानी में आधा चम्मच कलौंजी का तेल मिलाकर सोते समय पीने से स्नायुविक विकार दूर हो जाते हैं।
  • अगर आप अपने मोटापे से परेशान हैं और इनको कम करना चाहते हैं तो इसके लिए आप कलौंजी के तेल और शहद को गर्म पानी में मिलाकर पीने से मोटापे की समस्या दूर होती है।
  • आप के जोड़ों में दर्द ही तो आपको Kalonji का पानी पीना चाहिए क्योंकि इसमें कैल्शियम और प्रोटीन की बहुत अधिक मात्रा पाई जाती है जो हमारी मसल्स को मजबूत बनाती है इसके अलावा इसमें विटामिन D भी होती है जो हड्डियों को मजबूत करती है। किसी भी इंफेक्शन से बचने के लिये हमें कलौंजी का पानी पीना चाहिए क्योंकि ये हमारे immune System को मजबूत करता है।
  • अगर आपके में सिर बहुत ज्यादा दर्द हो रहा हो तो एक कप green t में कलौंजी का रस मिलाकर पीने से 3 से 4 मिनट में सिर दर्द ठीक हो जाता है।
  •  अगर आपके चेहरे पर मस्सा हो तो       कलौंजी की क्षार को पानी के साथ पीने से तथा राख को मस्सों पर मलने से बहुत फायदा होता है।

Kalonji को खाली पेट खाने के फायदे –

आप लोग देखते ही हैं कि 40 से ऊपर उम्र वाले व्यक्ति ज्यादातर शुगर से परेशान रहते हैं तो बताते हैं कि इसमें कलौंजी कैसे काम आती और इसे कैसे देना चाहिए।तो पहले आप कलौंजी को पीस लीजिए और फिर इसे रोज सुबह खाली पेट इसका सेवन कीजिए ।लगभग तीन महीने तक इसका सेवन करने से शुगर लेवल कम हो जाता है और इसके उपयोग से आपको दवा भी नहीं खानी पड़ेगी।

कलौंजी और दाना मेथी के फायदे –

कलौंजी में एंटीऑक्सीडेंट और इंफ्लेमेटरी के गुण अधिक मात्रा में पाए जाते हैं इसलिए अगर आपके बाल झड़ते या फिर सफेद हो रहें हैं तो इसका इस्तेमाल करने चाहिए और अगर हम इसमें मेथी भी मिला लेते हैं तो बालों के डेंड्रफ और हेयर फॉल भी खत्म हो जाता है।

मधुमेह रोग में कलौंजी के फायदे

मधुमेह रोग के लिए कलौंजी का तेल एक सबसे अच्छा स्त्रोत है। आप इस तेल को Black ti में मिलाकर लगभग एक महीने तक पीने से आपको इसका असर दिखाई देने लगेगा।

कलौंजी के फायदे किडनी के लिए

किडनी हमारे शरीर का बहुत ही महत्वपूर्ण अंग होते हैं।जो हमारे शरीर के रक्त को शुद्ध करने में मदद करते हैं।लेकिन कुछ रोग किडनी में जैसे संक्रमण और पथरी हमारे स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव डालते हैं।अगर इस रोग से आपको छुटकारा पाना है तो ड़ेढ चम्मच कलौंजी का तेल और दो चम्मच शहद को गर्म पानी के साथ मिलाए और फिर इस मिश्रण को दिन में दो बार पियें। इसके पीने से हमारे गुर्दे के संक्रमण और गुर्दे के दर्द तथा पथरी जैसी समस्या ठीक हो जाती है।

कोलेस्ट्रोल कम करने में Kalonji के फायदे –

अगर किसी भी व्यक्ति को कोलेस्ट्रॉल की समस्या हो और वे इस समस्या से बेहद परेशान है और आप इससे जल्द छुटकारा पाना चाहते हैं तो हम आपको की कलौंजी इस बीमारी के लिए एक बेहतर इलाज है आपको एक ग्राम कलौंजी प्रतिदिन सेवन लगभग तीन महीने तक करने होगा। इस तरह करने से आप इससे छुटकारा पा सकते हैं।

कलौंजी के अन्य फायदे(Others benefits of kalonji in hindi)-

  • अब तो मसूड़ो में सूजन और रक्तस्राव होना आम बात हो गई क्योंकि यह समस्या आजकल बच्चों में भी होने लगी है अगर आप अपने दाँतो को मजबूत बनाना चाहते हैं तो कलौंजी का उपयोग कीजिए।
  • आप लोग तो देखते हैं कि आजकल तो सभी लोगों की एड़ी फटती रहती हैं अब तो इसकी समस्या गर्मियों में भी होती है अगर आप इससे छुटकारा पाना चाहते हैं तो फ़टी हुई एड़ियों में कलौंजी का तेल लगाने से बहुत फायदा होता है।

कलौंजी के नुकसान -(Kalonji ke Nuksan in hindi)-

  •  कलौंजी का सेवन सीमित मात्रा में ही लेना चाहिए क्योंकि कुछ लोगों को यह अमाशय में जलन या खराबी का कारण बन सकती है।
  • कलौंजी में थाइमोक्विनोन भी पाया जाता है अगर इसकी मात्रा बढ़ गई तो ब्लड क्लॉट भी हो सकता है इसलिए कलौंजी का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • और हम आपको बता दे कि अगर कोई व्यक्ति पित्त से परेशान है और उसे सुबह गर्मी बर्दाश्त नहीं होती है तब भी इसके सेवन नहीं करना चाहिए।
  • जिन महिलाओं को देर से पीरियड आते हैं या फिर अधिक तब भी इसका उपयोग नहीं चाहिए।

दोस्तों इस लेख की मदद से हमने आपको कलुंजी से होने वाले अनेक फायदों के बारे में बताया है अगर आपको इस लेख में किसी प्रकार का संदेह तो है कमेंट जरुर करें हम आपकी पूरी मदद करेंगे कृपया आप हमारे इस लेख को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें ताकि हमें प्रोत्साहन मिल सके |

- Advertisement -
Pankaj Yadavhttp://hinditarget.com
नमस्कार दोस्तों  ! मै Pankaj Yadav , HindiTarget.com का Owner | मै एक Web Developer हूँ | मै इस ब्लॉग के माध्यम से नयी नयी जानकारियां लाता रहता हूँ। कृपया आप हमे SUPPORT करे ताकि हम आपसे इसी तरह जुड़े रहें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

हमसे जुड़े

506FansLike
300FollowersFollow
201FollowersFollow

नये लेख

सम्बन्धित लेख