FASTag को किया गया अनिवार्य , पूरी जानकारी पढ़ें |

- Advertisement -

FASTag क्या है, और यह कैसे काम करता है ? What is fastag ? How does it work ?

16 फरवरी 2021 को भारत परिवहन विभाग ने FASTag को अनिवार्य कर दिया । इसी के चलते भारत में FASTag के यूजर 2 करोड़ से भी ज्यादा हो गए हैं । भारत परिवहन विभाग को प्रतिदिन कम से कम 80 करोड़ की इनकम होती है सिर्फ नेशनल हाईवे के FASTag के उपयोगकर्ताओं से। ये जो भी इनकम होती है वह NETC के द्वारा यानी National Electronic Toll Collection के द्वारा होती है।

India में कई हाईवे और नेशनल हाइवेज हैं जिनपर आपको अपना वाहन चलाने के लिए सरकार को कुछ न कुछ Tax देना होता है । Tax को लेने के लिए एक टेक्नोलॉजी उपयोग में लायी जाती है जिसे FASTag के नाम से जाना जाता है। 

आखिर FASTag क्या है , कैसे काम करता है । इसका उपयोग हम कैसे कर सकते हैं। FASTag उपयोग करने के क्या फायदे हैं आदि सभी प्रकार की जानकारी इस पोस्ट में दी गयी है। 

FASTag क्या है ?(What is FASTag for vehicle in hindi)

यह एक ऐसी टेक्नोलॉजी है जिसके द्वारा आपको कैशलेस सुविधा दी जाती है। इसमें आपका एक इलेक्ट्रॉनिक कार्ड बनाया जाता है और इसमें पहले से ही कुछ रुपयों को जोड़ दिया जाता है । जितना पैसा आपके कार्ड में जोड़ा जाता है उतना पैसा आपको देना होता है । 

जब भी आप किसी National highway पर यात्रा करते हैं तो वहाँ पर कुछ दूरी पर Toll Plaza मिलते हैं जिनपर आपको पैसे देने होते हैं जोकि एक प्रकार का Tax होता है । लेकिन FASTag सुविधा के द्वारा हमे पैसा देने की जरूरत नही होती है यदि आपके FASTag एकाउंट में पहले से पैसे हैं तो जैसे ही आप Toll Plaza पर जाते हैं यह पैसा आपका अपने कट जाता है।  

यह आपकी गाड़ी में लगा दिया जाता है आप ऐसे समझिए कि यह एक मेमोरी कार्ड की तरह होता है और Toll Plaza पर लगे स्कैनर इसे Detect करके उचित पैसे काट लेती हैं। इसे गाड़ी के Windshield पर बीच में लगाया जाता है । 

आप इसमें कम से कम 100 रुपये रख सकते हैं और ज्यादा से ज्यादा 1 लाख । यदि आपके FASTag में पैसे खत्म हो गए हैं तो आप इसे अपने Mobile से रिचार्ज कर सकते हैं । मोबाइल से रिचार्ज करने के लिए आप Paytm, Phonepe, Googlepay, AmazonPay आदि जैसे एप्प्स का उपयोग कर सकते हैं । आप अपना FASTag recharge Toll Plaza पर भी करवा सकते हैं। आप चाहे तो इसे अपने (SBI FASTag) बैंक एकाउंट से भी जुड़वा सकते हैं ताकि आपको बार बार रिचार्ज करवाने की जरूरत न पड़े।

यह सिस्टम बहुत ही पहले से Metro Railways में उपयोग में लायी जा रही थी लेकिन आब भारत सरकार ने इसे Toll Tax उसूलने के लिए भी उपयोग में ला रही है। जिससे सरकार और सभी यूजर को होने वाली असुविधाओं को कम किया जा सके ।

Toll Plaza क्या होता है ? What is toll plaza?

FASTag क्या होता है जानने के साथ साथ यह जानना भी बहुत जरूरी है कि Toll Plaza क्या है ? यह एक प्रकार का Station होता है जहां पर आने जाने वाले गाड़ियों को इसके बनाये गए नियमों का पालन करते हुए जाना होता है। यह आने जाने वाले बड़े बड़े हाईवे पर वाहन के लिए Tax लेने वाला एक प्रकार का अड्डा होता है। यहां पर थोड़ी सी जगह ज्यादा होती है जिसमें कम कई सारे गेट लगे होते हैं । 

- Advertisement -

यदि कोई गाड़ी आती है तो उन्हें इन गेट के बीच से होकर जाना होता है । हर एक गेट पर Tax Collector होते हैं जिन्हें आपको पैसे देने होते हैं उसके बाद वह Gate को खोल देते हैं और आप आसानी से जा सकते हैं। Toll Plaza पर दो प्रकार के Gate होते हैं एक तो उनके लोए जो FASTag सुविधा का इस्तेमाल कर रहें होते हैं दूसरे वो जिन्हें Cash देना होता है।

यदि आप आपके पास FASTag Card नही और आप उस वाले गेट पर गलती से चले जाते हैं तो आपको कुछ ज्यादा पैसे देने पड़ जाते हैं।

FASTag कैसे काम करता है ?(How does FASTag work ? )

यह RFID टेक्नोलॉजी को उपयोग करते हैं । इसका पूरा नाम Radio Frequency IDentificatolion है। जिसमें दो प्रकार के डिवाइस होते हैं –

FASTAG

1.Passive (कोई बैटरी नहीं)

2.Active (बैटरी होती है)

Passive में किसी भी प्रकार की कोई बैटरी नही होती है जोकि एक प्रकार से मेमोरी की तरह FASTag Card में लगी होती है। Active में Toll Plaza पर लगा एक Scanner होता है । जैसे ही कोई अपनी गाड़ी लेकर आता है तो एक Breaker लगा होता है स्कैनर के थोड़ा सा आगे । आप अपनी गाड़ी को थोड़ा सा धीमा करते हैं तो स्कैनर Radio Waves के द्वारा आपके गाड़ी पर लगे FASTag को Detect कर लेता है और यदि उसमें पैसे होते हैं तो वह पैसे काट लेता है और Boom Barrier होता है वह खुल जाता है और आपके पास एक मैसेज आ जाता है। 

यदि आपके FASTag में पैसे नही होते हैं तो यह Barrier नही खुलता है। आने वाली सभी गाड़िया एक कतार में होती हुई गेट से जाती हैं लेकिन हर एक गाड़ी के बीच में कम से कम 4 meter की दूरी होनी चाहिए नही तो जो गाड़ी आगे है उसका पैसा तो कट जाता है लेकिन कभी कभी पीछे वाली गाड़ी का पैसा नही कटता है। क्योंकि यह Scanner एक गाड़ी के FASTag को डिटेक्ट करने के बाद कुछ सेकंड का समय लेता है।

FASTag के प्रकार ( Type of FASTag)

FASTag के 7 Color होते हैं जिन्हें दो प्रकार की कैटेगोरी में बांटा गया है-

1.M-Type 

2. N-Type

1.M-Type

इसमें सिर्फ एक ही प्रकार का कार्ड होते है। इस प्रकार के जो card बनते हैं वो किसी भी निजी यानी प्राइवेट वाहन के लिए बनाए जाते हैं जिनका मतलब यह होता है कि या जो आपका वाहन है वह कहीं किराये या भाड़े पर नही चलता है । इस Card का जो रंग होता है वह Violet यानी बैंगनी रंग का होता है।

FASTAG

2.N-Type

इस प्रकार के कार्ड 6 तरह के रंग होते हैं

  • Commercial गाड़ियों यानी आप अपने गाड़ी से थोड़ा छोटा काम करते हैं तो उसके लिए आपके FASTag का रंग Orange होता है।
FASTAG
  • जिन भी गाड़ियों में Axle की संख्या 2 होती है उन गाड़ियों के FASTag का रंग Green यानी कि हरा होता है।
FASTAG
  • अब बात आती है कि जिन गाड़ियों में Axle की संख्या 3 होती है उनके FASTag का रंग Yellow यानी पीला होता है। 
FASTAG
  • यदि किसी गाड़ी में अगले 4,5 या फिर 6 Axle हैं तो उस गाड़ी के FASTag का रंग Pink यानी गुलाबी होता है।
FASTAG
  • यदि आपके गाड़ी में 7 Axle है या उससे ज्यादा हैं तो आपके गाड़ी के FASTag का रंग Sky Blue यानी कि आसमानी रंग का होता है।
FASTAG
  • यदि कोई मशीनें हैं जैसे कि JCB इत्त्यादी उनके लिए FASTag का रंग Black यानी काला होता है।
FASTAG

FASTag कैसे बनवाये ?

- Advertisement -

इसे आप दो तरीके से बनवा सकते हैं एक तो आप किसी फिजिकल सेंटर पर जाकर इसे बनवा सकते हैं । इसके लिए आपको अपनी गाड़ी की RC और ADHAAR Card की जरूरत होती है। इसके लिए आपके पास 100 रुपये होने चाहिए और इस प्रक्रिया को सिर्फ 10 मिनट लगते हैं। 

#-आयुष्मान भारत योजना क्या है ? कैसे उठाये 5 लाख तक का लाभ पूरी जानकारी |

दूसरा तरीका यह है कि आप अगर Paytm चलाते हैं तो अपने Paytm के द्वारा अप्लाई कर सकते हैं इसके लिए आपको आपकी RC की सामने की एक फोटो और एक फोटो पीछे की तरफ की अपलोड करनी होती है। साथ ही साथ आपको RC नंबर भी डालना होता है। यहां पर आपको 500 रुपये की जरूरत होती है जिसमें आपको कुछ Cashback paytm की तरफ से दिया जाता है । यह FASTag कार्ड आपके Paytm वालेट से लिंक हो जाता है और उसी से आपके पैसे कटते हैं ।

FASTag से होने वाले फ़ायदे ( Benefits of using FASTag)

यदि आप के पास एक गाड़ी है और कभी न कभी तो अपमो यह Toll Plaza की दिक्कत को जरूर झेलना पड़ा होगा इसके लिए हम अपकक इसके उपयोग करने से होने वाले फायदे बता रहें हैं-

  • कैशलेस होने से जो लेन देन में समय बर्बाद होता था वह बहुत ही कम हो गया ।
  • लेन देन में जो समय लगता था गाड़ियां Start रहती थी और उनका Fuel यानी तेल बर्बाद होता था वो बहुत ही कम हो गया और जो Fuel जलने से Pollution होता था वह बहुत ही कम हो गया ।
  • Fuel जलने से आपके पैसे बर्बाद होते थे वो अब बचने लगे ।
  • Tracking हो जाती है FASTag के द्वारा जब भी कोई Toll Gate को पार करता है। आपके मोबाइल पर मैसेज आ जाता है।
  • सरकार को Man – Power कम लगानी पड़ती है जिससे Corruption में बहुत गिरावट देखने को मिलती है ।
  • Cash होने से Toll Plaza पर कभी कभी लूटपाट हो जाती थी जो कि इससे अब नही होने वाली।

#- UP NEW RASHAN CARD LIST 2020 आवेदन स्थिति के बारे में पूरी जानकारी fcs.up.gov.in के द्वारा |

FASTag उपयोग करने से होने वाले नुकसान

  • कभी कभी स्कैनर में टेक्निकल प्रॉब्लम आ जाती है जिससे काफी समय बर्बाद हो जाता है।
  • FASTag लगी गाड़ी को कभी कभी धूप में खड़ी करने से में लगी चिप गर्म होने की वजह से खराब हो जाती है। 
  • यदि आपकी गाड़ी FASTag वाले गेट में बिना FASTag के चली गयी तो वहां पर आपसे Double Charge लिया जाता है।
  • आजकल हर एक चीज की Clonening कर लेते हैं लोग जिससे अगर आपको पता नही चला तो आपके कार्ड से पैसा कटता रहेगा यह एक गंभीर समस्या है।
  • Privacy के नाम पर भी यहां पर हमारा सारा ट्रैकिंग डेटा गवर्नमेंट के पास रहता है।

FAQs:-

FASTag position on windshield ?

इसकी पोजीशन windshield के बीचोबीच में होनी चाहिए ।

- Advertisement -

FASTag kaha se lagwaye ?

इसे आप किसी भी Toll Plaza पर लगाये गए Camp पर बनवा और लगवा सकते हैं।

FASTag Rules in hindi ?

इसके कुछ खास नियम नही हैं लेकिन आपको यह जरूर ध्यान रखना है कि आप यदि बिना Fastag के यदि गाड़ी Fastag के गेट में ले जाते हैं तो आपको दोगुना Tax देना पड़ता है ।

- Advertisement -
Pankaj Yadavhttp://hinditarget.com
नमस्कार दोस्तों  ! मै Pankaj Yadav , HindiTarget.com का Owner | मै एक Web Developer हूँ | मै इस ब्लॉग के माध्यम से नयी नयी जानकारियां लाता रहता हूँ। कृपया आप हमे SUPPORT करे ताकि हम आपसे इसी तरह जुड़े रहें।

1 COMMENT

  1. Thnks for given knowledge Sr

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

हमसे जुड़े

506FansLike
300FollowersFollow
201FollowersFollow

नये लेख

सम्बन्धित लेख