राष्ट्रीय किसान दिवस 2022 निबंध, महत्व एवं कविता-

- Advertisement -

राष्ट्रीय किसान दिवस 2022 निबंध, महत्व एवं कविता-

राष्ट्रीय किसान दिवस निबंध, महत्व भाषण, एवं कविता (National Farmers Day or kisan Diwas 2022 significance,history,speech,Poem in hindi)-

दोस्तों आज हम आप सभी को बताएंगे कि राष्ट्रीय किसान दिवस क्या है तथा इसका महत्व।

आप सब ये तो जानते ही हैं कि भारत का अधिकांश भाग कृषि ही है और कृषि का अभिन्न अंग हैं किसान।और ये तो सभी जानते हैं कि किसान एक ऐसा मजदूर है जो मेहनत मजदूरी करके भी दुखी है परेशान हैं और आज भारत में सबसे दयनीय हालत है किसान की।आपको बता की देश की आजादी के बाद से हर स्थिति में सुधार आया है।लेकिन एक किसान ही जिसकी स्थिति में सुधार नही आया है।आपको बता दे कि किसान देश की नींव है,और जब भी इस नींव पर संकट आता है तो देश की आधार शिला हिल जाती है।आज सबसे ज्यादा जरूरत है कि किसान को कैसे आत्मनिर्भर बनाया जाए।कैसे किसान के स्तर को ऊपर उठाया जाए?

आज कल ये तो सभी को पता है कि कृषि कार्य मानव का सबसे पुराना और आवश्यक उधोग है।आज भी कोई फसल हो मानव जीवन के लिए बहुत महत्वपूर्ण है।जिससे केवन उत्पादन करने वाले कृषकों को नही बल्कि पूरे समाज को फायदा होता है।इस लिए यहां आज कृषकों का ध्यान करना बहुत जरूरी है और आज देश में आधे से ज्यादा जनसंख्या कृषि पर ही निर्भर है।और भारत ने कृषि के विकास के कई आयामों को देखा है।60 के दशक में हरित क्रांति ने पंजाब और हरियाणा के साथ पूरे देश में कृषि का परिदृश्य बदल दिया था। इससे न केवल देश का विकास हुआ बल्कि किसानों की आवश्यकता को सरकार से लेकर आम जन तक भी समझा।

 और इसी कर्म से लेकर कृषकों के सम्मान और अधिकार की रक्षा के लिए किसान दिवस की शुरुआत हुई।

राष्ट्रीय किसान दिवस का इतिहास(History of National Farmer Day)-

क्या आप लोगों को पता है कि इस दिन का आयोजन किसने किया था।तो चलिए जानते हैं।इस दिन का आयोजन देश के पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह के सम्मान में किया गया था। ये पांचवे प्रधानमंत्री थे।इन्होंने केवल 28 जुलाई 1979 से लेकर  14 जनवरी 1980 तक ही ये पद भर सम्भाला था। इस दौरान चौधरी चरण सिंह किसानों के हित जो ध्यान में रखते हुए बहुत सी नीतियां बनाई थी। ये बहुत सी नीतियां बनाकर ना सिर्फ किसानों की रक्षा करती थी बल्कि एकजुट होकर जमीदारों से लड़ने को भी प्रेरित करती हैं और इन्होंने जय जवान जय किसान का वास्तविक रूप से अनुसरण किया था।चौधरी सिंह लेखक भी थे और ये अपने लेखन से ही किसानों की समस्याओं और समाधान की किताबों में लिखने का उपयोग किया था।

इस तरह उन्होंने किसानों के जीवन स्तर को सुधारने का बहुत प्रयास किया था।

और ये देश के आम किसानों के बीच सदा लोकप्रिय रहे।इस नेता की जयंती को ही किसान दिवस के रूप में मनाना निर्धारित किया गया। आप सभी को ये बात तो पता ही है कि किसान ही देश का उजागर है इसलिए इनकी रक्षा करना बहुत ही आवश्यक है और इस प्रकार किसान पृष्ठभूमि के चरण सिंह के सम्मान में मनाया जाने वाला ये दिन भारतीयों के मन में किसानों के लिए सम्मान को बढ़ाता है।

यह क्यों मनाया जाता है(Why it celebrity)-

दोस्तों आप सभी तो ये तो पता ही है कि भारत में हर साल  सभी राज्यों में राष्ट्रीय किसान दिवस का आयोजन किया जाता है,उनमें वे जिनमें सबसे ज्यादा कृषि होती है,और वहां पर ये दिवस कोई उत्सह से कम नही होता है जैसेकि उत्तर प्रदेश,मध्यप्रदेश, पंजाब,हरियाणा, और कुछ राज्य है जो जहां पर ये दिवस बहुत ही उत्साह से मनाया जाता है।किसान समुदाय और किसान वर्ग के कई सदस्य मिलकर कृषि पर आधारित कार्यक्रम का आयोजन करते हैं।कई वाद विवाद प्रतियोगिता क्विज जैसे कार्यक्रमों से कृषि कार्य सम्बंधित जागरूकता लाने की कोशिश कर करते हैं, और इसी दौरान किसानों से सम्बंधित कई मुद्दों पर चर्चा की जाती है, इस प्रकार किसान अपने प्रतिनिधि और मुद्दों और समस्याओं को अभिव्यक्ति कर पाते हैं।इस दिन काम करने वाले वालो को विशेष रूप से सम्मानित किया जाता है।

किसान दिवस उद्देश्य(Objectives of Farmers Day)-

- Advertisement -

आप लोगों ने कभी ये सोच है कि किसानों के बिना हमारा जीवन कैसे रहेगा। और ये बहुत ही खुशी की बात है कि हमारे समाज का वर्ग ऐसा है जो हमारा भरण पोषण को सोचता है।अगर हम लोग भी इसी प्रकार उनके अधिकारों के बारे में सोचे और उनका जीवन स्तर ऊपर उठा पाये। तो उनके लिए इससे बेहतर कुछ नही होगा।इसी लिए इसका दिवस मनाना जरूरी है।जिससे कि हम तक फल,सब्जी,धान और मूलभूत वस्तुएं पहुचाने वाले वर्ग को समाज की मुख्य धारा को जोड़ा जा सके।

वास्तव में कृषि के लिए आवश्यक इन्वेस्टमेंट ,उपकरण और अन्य वस्तुएं उपलब्ध कराने के लिए किसान वर्ग को शिक्षित होना भी जरूरी है सरकार किसानों के लिए समय समय पर कई तरह को योजनाए बनाई जाती हैं और उनको लाभ देने के लिए बहुत से कृषि कार्यक्रम को आयोजित किया गया है।

लेकिन हम आपको बता दे कि अभी तक इतना कुछ होने के बाद भी कुछ किसान तक आवश्यक जानकारी नही पहुंच पाती है।तो इसीलिए किसी एक दिन पर किसानों को उनके सम्मान के साथ-साथ उनके हितों की जानकारी देना ही किसान दिवस को मनाने का मुख्य उद्देश्य है।

राष्ट्रीय किसान दिवस कैसे मनाए?( How to celebrate. National Farmers Day)-

आप सभी को बता दे कि इस दिवस को मनाने के लिए कुछ विशेष आयोजन या खर्चे की जरुरत नही जोती हैं बस आप सभी को इस आयोजन में सम्मिलित होने की आवश्यकता होती है। इसके लिए आप व्यक्ति गत स्तर से लेकर आप स्थगित विभिन्न तरीके से आप किसान दिवस मना सकते हो।

इसको मनाने के लिए आप चाहे तो बाजार जा कर खरीददारी करके मना सकते हो लेकिन खरीददारी ऐसी होनी चाहिए जैसे कि किसानों के उद्देश्य को पूरा करने में काम आए ,और आप उनके सपने को सच करने में सहयोग कर पाए।इस माध्यम से किसान से कुछ खरीदकर अपने घर ले जाओ।

आप अपने पूरे परिवार के साथ जाकर किसानों के साथ एक दिन बिता सकते हो।और अगर आपको उनकी कोई भी समस्या समझ सकते हो तो उनका समाधान भी कर सकते हो।

और आप सभी को बता दे कि देश को योगदान देने वाला सबसे आवश्यक किसान वर्ग है।इसीलिए इसकी सम्मान देना तथा और इनके लिए एक दिवस को मनाना न केवल राजनीति उद्देश्यों की पूर्ति करने बल्कि यह उद्देश्य जो हैं किसानों को पूरे तरह से समाजिक रूप से शक्तिशाली बनाता है।

  • इस दिन कृषि से सम्बंधित कई वर्कशॉप,और सेमिनार का आयोजन किया गया है।जिसके जरिये किसानों को आधुनिक आपदाओं से राहत दिलाती है। इस लिए इस तरह की जानकारी विस्तार से दी जाती है।
  • किसान दिवस के उस दिन उन नेताओं को सम्मानित किया जाता है।जिन्होंने देश के सम्मान के लिए उचित कार्य किये हैं।
  • किसान दिवस के दिन सभी को उनके हक़ तथा उनको दी जाने वाली सुविधाओं के बारे में भी बताया जाता है।
  • क्या आप लोग जानते हैं कि इस दिन किसान वैज्ञानिकों से बातचीत करते हैं और सभी बातों को सुन कर उसका हल निकलते हैं।
  • और इस प्रकार हर एक राज्य में अलग-अलग किसान दिवस का आयोजन किया जाता है।

साल 2022 में राष्ट्रीय किसान दिवस कब है(National Farmers Day 2022 Date)-

आप को बता दे कि हर साल की तरह 2022 में भी यह 23 दिसम्बर को मनाया जाएगा।

2021 के इंवेट्स 

आप सभी को पता है कि उत्तर प्रदेश की सरकार ने प्रति वर्ष भांति इस साल भी इस दिवस को मनाने के लिए एक विशेष रूपरेखा तैयार की है,और 23 दिसम्बर को अवकाश घोषित किया गया है।इस दिन उन सभी नेताओं को सम्मानित किया जाता है जो किसानों के हितों के लिए आवाज उठाएंगे।ग्रामीण क्षेत्रों के विकास के लिए कृषि के लिए बहुत से कार्य किये हैं जैसेकि सेमिनार,वर्कशॉप, और प्रदर्शनी को आयोजित किये जायेंगे।कृषि सम्बंधित अधिकारी और किसानों को संवाद करेंगे ,आप जानते जिसमें कृषि आधारित योजनाओं और जो भी नई-नई जानकारियां हैं वह किसानो को समझाई जाएंगी और जो भी उनकी समस्या है उनका निवारण करने के उपाय भी बताएं जाएंगे।

किसान दिवस पर कविता(National Farmers Day Poem)-

  किसानों से कहा अब वो मुलाकात करते

बस रोज नए ख्वाबो की बात करते हैं

पैर हो जो मिट्टी में,दोनों हाथ

- Advertisement -

कुदाल पर रहते

सर्दी,गर्मी व बारिश सब कुछ वो सहते।

आसमान पर नजर हमेशा,आंधी तूफान

          सब सहते 

खेतों में हरियाली आये ,दिन रात 

   वो लगे रहते

मेहनत कर अन्न उगाते, पेट सभी का 

   है भरते ।

- Advertisement -

वो है मसीहा मेहनत 

जिसको किसान हम है कहते।

- Advertisement -
Editorial Team
Editorial Team
यह लेख Hindi Target के Editorial Team के द्वारा लिखा गया है | यदि आपको लेख पसंद आया हो तो Hindi Target Team आप से उम्मीद रखती है कि आप इस लेख को ज्यादा से ज्यादा Share करेंगे | धन्यवाद !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

हमसे जुड़े

506FansLike
300FollowersFollow
201FollowersFollow

नये लेख

सम्बन्धित लेख