बेल क्या है? जानिए Bael Fruit ke fayde(Benefits of wood Apple in hindi)- 

- Advertisement -

Table of Contents

बेल क्या है? जानिए Bael Fruit ke fayde(Benefits of wood Apple in hindi)- 

Wood Apple in hindi- 

दोस्तो आप सभी ने ऐसे बहुत से खाद्द पदार्थों के बारे में सुना होगा जिसको खाने से हमारे शरीर की अनेक बीमारियां ठीक होती है। तो इन्ही खाद्द पदार्थ में से एक है बेल(wood Apple)। 

तो आप सभी तो बेल के बारे में जानते ही होंगे यह बेल फल(Nark fruit in hindi) खाद्द के रूप में सेवन किया जाता है कुछ लोग इसको बेलपत्र ,wood apple के नाम से भी जानते हैं।

अपने अक्सर बेल को भगवान शिव के मंदिर में चढ़ते हुए देखा होगा,और गर्मियों के मौसम में यह सब्जी मंडी में बिकता हुआ दिखेगा।आपको शायद ही पता होगा कि यह गर्मियों के मौसम में हमारे लिए बहुत फायदेमंद होता है।

तो चलिये अब इसके आपको बेल के सभी फायदों के बारे में बताते हैं।की यह हमारे लिए किस-किस प्रकार से फायदेमंद हैं।  

क्या होता है बेल फल( What is wood Apple in hindi)-

यह फल औषधियो से युक्त एक ऐसा फल है। इसका वैज्ञानिक नाम एगालि मारमेलोस (Aegle marmelos) है। लेकिन ये आप सभी पता ही कि यह 

अन्य फलों की तरह मुलायम नही होता है इसकी जो ऊपरी परत होती है वह बहुत ही कठोर होती है। इसको किसी वजह चीज से फोटना पड़ता है यह Vale fruit कच्चा पर इसका हरा रंग रहता है और पकने पर इसका रंग पीला हो जाता है।

और अगर हम बेल की स्वाद की बात करे तो इसका स्वाद मीठा होता है। आपको बता दे कि बेल का आंतरिक भाग ही खाया जाता है जो पीला होता है।इसके अंदर लगभग 10-15 के झुंड में सफेद बीज होते हैं।

बेल की तासीर-

दोस्तों क्या आप सभी को पता है कि बेल की तासीर कैसी होती है तो चलिए बेल गर्मियों के मौसम में लाभकारी फल माना जाता है।क्योंकि बेल की तासीर ठंडी होती है।जिससे शरीर को ठंडक प्राप्त होती है।

Wood Apple में पाए जाने पौष्टिक तत्व (Nutrients of wood Apple in hindi)-

- Advertisement -

क्या आप सभी को पता है कि बेल में कौन-कौन से पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं जो हमारे शरीर के फायदेमंद होते हैं। तो चलिए जानते हैं-

बेल में फाइबर,प्रोटीन,पोटैशियम, कैल्शियम,फास्फोरस, कार्बोहाइड्रेट,आयरन,बीटा-कैरोटिन,थायमिन,और राइबोफ्लेविन सहित एंटी-पैरासाइट, एंटी फंगल, एंटीऑक्सीडेंट तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं जो हमारे शरीर के लिए बहुत ही लाभदायक होते हैं।

बेल के स्वास्थ्यवर्धक फायदे(Benefits of wood Apple in hindi)-

ये तो सभी को पता होता है कि जब भी गर्मियों के मोसम शुरू होता है कितने सारे समस्याएं हमारे शरीर में होने लगती है इससे की हमें परेशानी होती है।बेल एक ऐसा फल है जो गर्मियों के मौसम में खाया जाता है।  इस फल कई सारे गुण होते हैं जो शरीर के विभिन्न रोगों को नियंत्रित करते हैं। 

तो चलिए जानते हैं इसके गुणों के बारे में ।

1 सिरदर्द को ठीक करने बेल के फायदेमंद( Migraine Benefits of bael Fruit in hindi)-

अब तो सभी लोग जानते ही है कि जब सिर दर्द होता है तो शरीर तनाव से ग्रसित हो जाता है।जिसकी वजह से रोगी का शरीर बहुत ही थका हुआ है।अक्सर गर्मियों के मौसम में सिर दर्द होना काफी ज्यादा आम बात है।इसलिए अगर आप इस समस्या से छुटकारा पाना चाहते हो तो बेल का सेवन कीजिए क्योंकि बेल की तासीर ठंडी होने के इसमे विटामिन सी पाया जाता है जो सिर दर्द को ठीक करता है।

2.मुंह के छालों को ठीक करने में है प्रभावी(Effective in curing Mouth Ulcers)-

दोस्तों अक्सर आपने देखा होगा कि कुछ लोगों के मुंह मे छाले पड़ जाते हैं।जिसकी वजह वे कुछ अच्छी तरह से खा पी नही पाते हैं। आपको पता कि मुँह में छाले पानी की कमी,दवाइयों के ज्यादा सेवन से ,कब्ज इन सभी कारणों से होता है।अगर इसका उपचार ठीक समय पर नही किया जाता है तो ये छाले मुंह से गले तक हो जाते हैं जिससे ज्यादा समस्या हो जाती है।

3. पाचन तंत्र को ठीक करने में बेल का प्रयोग(Use bael to cure the Digestive system)-

पाचन तंत्र एक ऐसा तंत्र है जो हमारे पूरे शरीर को सही रखता है पाचन तंत्र की वजह से यह हमारा शरीर बीमारियों का घर बन जाता है। पाचन तंत्र में कब्ज,पेटदर्द, सिरदर्द,गैस,भूख में कमी,सीने में जलन,आलस्य आदि सब दिक्कते हो जाती है जब हमारा पाचन तंत्र सही नही होता है तो।

इसलिए अगर आप लोग इस सभी बीमारियों से बचना चाहते हो और अपने पाचन तंत्र को स्वस्थ व सही रखना चाहते हो तो wood apple का सेवन कीजिए क्योंकि बेल में फाइबर व एंटीऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते हैं हो हमारे पाचन तंत्र को स्वस्थ रखने में मददगार होता है।

4.वजन कम करने में बेल का उपयोग(Loose Weight wood apple in hindi)-

दोस्तो ये पता ही है आप सभी को कुछ लोगों बहुत ही ज्यादा मोटे होते हैं तो इसी कारणों से भी वह अस्वस्थ रहते हैं। मोटापा गलत खान -पान की वजह से भी बढ़ सकता है।इस मोटापे को आप पौष्टिक व संतुलित भोजन करके कर सकते हैं।

तो अगर आप या आपके घर का कोई भी सदस्य मोटापे से परेशान हैं तो बेल का सेवन कीजिए क्योंकि बेल में फाइबर होता है जो मोटापे को कम करता है।

5.हैजा रोग में फायदेमंद होता है बेल(Benefits of wood apple in Cholera)-

दोस्तो क्या आप सभी को पता कि हैजा रोग कैसे होता है। यह रोग विब्रियो कोलरा(Vibiro Cholera) बैक्टीरिया के कारण होता है। यह रोग तब होता है जब व्यक्ति किसी प्रकार का दूषित पानी या दूषित आहार का सेवन कर लेता है तो यह रोग उन व्यक्तियों को होता है। पहले यह बीमारी बहुत बड़ी बीमारी थी।

अगर आज भी इसका सही इलाज नही किया जाता है तो यह बड़ी बीमारी है। इसलिए अगर किसी भी व्यक्ति को यह बीमारी हो तो वह इसका इलाज तुरन्त करे।

- Advertisement -

आपको बता दे कि अगर आपको हैजा जैसी बीमारी को ठीक करना है तो आप बेल का सेवन कर सकते हो क्योंकि हैजा में टेनिन पाया जाता है इसलिए यह हैजा के रोग में बेल का सेवन जरूर करना चाहिए।

6.स्कर्वी रोग में फायदेमंद बेल(Benefits of Bael Fruit in Scurvy)-

 स्कर्वी रोग भी ऐसा रोग है।इसकी वजह से भी लोग परेशान होते हैं,और यह रोग विटामिन्स की कमी के कारण होता है।विटामिन शरीर के लिए बहुत ही आवश्यक होती है।अगर आपके शरीर मे विटामिन की कमी होती है तो आपके जांघ और पैर पर निशान पड़ जाते हैं और विटामिन की कमी से मसूड़े सूज जाते हैं,शरीर में थकान हो जाती है, रक्त स्राव होने लगता है, दाँत गिरने लगते हैं।

तो अगर यह रोग किसी को है और इससे सुरक्षित रहना चाहते हो तो आपको बेल का इस्तेमाल करना चाहिए क्योंकि बेल में भरपूर मात्रा में विटामिन पाया जाता है जो इस रोग में बहुत फायदेमंद होता है।

7.लू से बचाने में बेल फायदेमंद(It protects from Heatstroke)- 

आपको बता दे जो कि ग्रीष्मकाल में उत्तर और पश्चिम दिशा में चलने वाली उष्ण, शुष्क हवाओं को लू कहा जाता है। ये हवाएं मई व जून में चलती है जो जानवरो और मनुष्यों पर बहुत प्रभाव डालता है।इससे बचने के लिए हर व्यक्ति सब सम्भव प्राप्त करता है।

लू से बचने के लिए बहुत जरूरी होता है क्योंकि लू में बहुत सी मोते भी होती हैं।यदि आप अपने को लू से बचाना चाहते हो तो बेल का सेवन कीजिए। क्योंकि बेल की तासीर ठंडी होती है,और इसमें कई प्रकार के औषधीय गुण पाया जाता है जो लू से बचाता है।

8.लिवर को स्वस्थ रखने में बेल के फायदे(Liver Benefits of bael Fruit in hindi)-

ये तो सभी को पता है कि लिवर शरीर का एक अहम हिस्सा है।अगर आपका लिवर खराब है तो आपका सारा शरीर रोग से ग्रसित रहता है।लिवर ज्यादा खराब होने की वजह से मौत भी हो जाती है। इसलिए लिवर को स्वस्थ रखना बहुत ही जरूरी होता है।

आपको बता दे कि समय पर ना सोना,गलत खान-पान,शराब,अधिक पानी का सेवन करने की वजह से हमारा लिवर खराब हो जाता है।यदि आपको अपने लिवर को स्वस्थ रखना है तो बेल का इस्तेमाल कीजिए क्योंकि बेल में बीटा कैरोटीन और फाइबर पाया जाता है जो लिवर को स्वस्थ रखता है।

बेल के अन्य फायदे(Some Other Benefits of bael Fruit in hindi)-

 क्या आप सभी को पता है कि बेल हमारे विभिन्न प्रकार से लाभकारी होता है।

- Advertisement -

.आपको पता है कि बेल में पोटैशियम पाया जाता है जो ह्रदय को स्वस्थ रखता है।

.बेल एंटी-इंफ्लेमेटरी तत्वों से युक्त होता है जो चोट लगने पर होने वाली सूजन को कम करता है।

.बेल में आयरन होता है जो एनीमिया रोग से बचाता है।

.बेल में रक्त शोधक भी गुण होते हैं जो रक्त को शुद्ध करता है।

बेल का उपयोग (Use of wood apple in hindi)-

बेल हमारे लिए बहुत ही फायदेमंद होता है यह हमारे लिए विभिन्न प्रकार से इस्तेमाल में आता है।तो चलिए जानते हैं।

.बेल का उपयोग अचार के रूप में भी किया जाता है।

.जूस के रूप में भी इसका सेवन किया जाता है।

.मुरब्बा के रूप में बेल का सेवन किया जाता है।

. बेल का सेवन दूध के साथ भी किया जाता है।

. शरबत में भी बेल का इस्तेमाल किया जाता है।

बेल के विभन्न नाम ( Some Other Names of bael fruit in hindi)-

आपको बता की बेल को अलग-अलग नामो से जाना जाता है।तो अगर आप बेल के नामों को जानना चाहते हो तो चलिये आपको हम बेल के सभी नामों को बताते हैं।

बेल का अंग्रेजी नाम-वुड एप्पल, बेल फ्रूट 

हिंदी नाम-    सदाफल,श्रीफल, बिल्व

सँस्कृत नाम –  शैलूष,शांडिल्य

तमिल नाम-  बिल्वझपम

गुजराती नाम  –  बिली 

तेलगु नाम-   मारेडू

मराठी नाम –   बोलो

मलयालम नाम –  कुवलप-झपम 

बेल से होने वाले नुकसान(Side effects of wood apple in hindi)-

आप लोगों को ये तो पता ही है कि कोई भी चीज हो उसके तो होते हैं परंतु कुछ नुकसानदायक भी होते हैं। तो चलिए जानते हैं बेल से होने वाले कुछ नुकसान ।

 . बेल का अधिक सेवन नही करना चाहिए क्योंकि इसके अधिक सेवन से कब्ज की समस्या हो जाती है।

.बेल में शुगर होती है इसलिए मधुमेह से ग्रसित रोगी को बेल का सेवन नही करना चाहिए अगर करे तो डॉक्टर से सलाह ले।

.अधिक से अधिक बेल का सेवन करने से किडनी की समस्या हो जाती है।

.ये तो पता ही है बेल की तासीर ठंडी होती है इसलिए स्तनपान कराने वाली महिलाओं को बेल का सेवन नही करना चाहिए ।

. बेल के अधिक सेवन से गैस की भी समस्या हो जाती है।

दोस्तों आपको अगर बेल की जानकारी प्राप्त करनी है तो इस लेख को जरूर पढ़े क्योंकि इस लेख में आप सभी बेल wood apple से जुड़ी सभी प्रकार की जानकरी प्राप्त होगी।

- Advertisement -
Editorial Team
यह लेख Hindi Target के Editorial Team के द्वारा लिखा गया है | यदि आपको लेख पसंद आया हो तो Hindi Target Team आप से उम्मीद रखती है कि आप इस लेख को ज्यादा से ज्यादा Share करेंगे | धन्यवाद !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

हमसे जुड़े

506FansLike
300FollowersFollow
201FollowersFollow

नये लेख

सम्बन्धित लेख